भीड़ प्रबंधन की व्यवस्था बिगाड़ रहे पुलिस अधिकारी

उज्जैन। भगवान महाकालेश्वर के दर्शन हों अथवा सवारी के दौरान भीड़ प्रबंधन की स्थिति। अनुभवहीन पुलिस अधिकारियों द्वारा हर बार व्यवस्था बदले जाने के कारण लोग परेशान हो रहे हैं। कल गुदरी चौराहे से सवारी निकल जाने के बाद बीच सड़क पर पुलिस ने बेरिकेड्स बांध दिये जिस कारण महिलाएं और बच्चे भीड़ में दबकर शोर मचाने लगे। यहां हादसे की स्थिति उत्पन्न हो गई और कुछ जागरूक लोगों ने महिलाओं को भीड़ से बाहर निकालकर दुकानों पर खड़ा किया।

पहले ऐसी थी व्यवस्था महाकाल की सावन मास की तीसरी सवारी के दौरान गुदरी चौराहे से
लेकर गोपाल मंदिर तक सड़क के दोनों ओर लगे बेरिकेड्स गलियों के मार्ग पर खुले थे। इसका फायदा यह हुआ कि सवारी देखने वाले पैदल और दो पहिया वाहन चालक मगरमुंहा, मोदी की गली, दत्त मंदिर की गली से बक्षी बाजार की तरफ पहुंचकर सवारी देखकर लौट गये जिस कारण दूसरे मार्गों पर भीड़ का दबाव कम हुआ और लोगों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना भी नहीं करना पड़ा।

कल ऐसे बिगड़ी व्यवस्था
सावन मास की चौथी सवारी मंदिर से प्रारंभ होने के पूर्व गोपाल मंदिर पर बेरिकेड्स लगाकर पटनी बाजार, बर्तन बाजार की ओर आने वाले दो पहिया वाहन चालकों को रोक दिया गया। लखेरवाड़ी, मगरमुंहा, मोदी की गली, दत्त मंदिर की गली, व्यायामशाला की गली की ओर लगे बेरिकेड्स को भी तारों से बांधकर ब्लाक कर दिया गया जिस कारण पैदल आने व जाने वाले लोगों को सड़क पार करने का रास्ता नहीं मिला जिनमें अधिकांश वृद्ध महिलाएं और बच्चे शामिल थे। यहां खड़े पुलिसकर्मियों से व्यवस्था बदलने के बारे में पूछा गया तो उनका कहना था ट्राफिक डीएसपी के निर्देश हैं और किसी भी गली के बेरिकेड्स के तार नहीं खोल सकते।

गुदरी चौराहे पर महिलाएं बिलख पड़ीं
महाकालेश्वर की सवारी गुदरी चौराहा से बक्षी बाजार की ओर रवाना हो गई। इस दौरान सवारी देख चुकी भीड़ को घर लौटना था लेकिन गुदरी से पटनी बाजार की ओर जाने वाले बीच मार्ग पर पुलिसकर्मियों ने बेरिकेड्स बांध दिये नतीजा यह हुआ कि लोगों को मजबूरी में दूसरे मार्ग की ओर जाना पड़ा और धक्का-मुक्की की स्थिति उत्पन्न हो गई जिसमें महिलाएं और बच्चे दबकर बिलख पड़े। कुछ जागरूक लोगों ने महिलाओं, बुजुर्गों और बच्चों को भीड़ से निकालकर दुकानों के ओटलों पर खड़ा कराया और कुछ देर इंतजार को कहा।

व्यवस्था प्रभारी एएसपी कनेश हैं
महाकालेश्वर सवारी मार्ग पर भीड़ प्रबंधन की व्यवस्था के प्रभारी एएसपी कनेश हैं, उन्हीं के निर्देश पर व्यवस्था में बदलाव किया गया था। भीड़ अधिक थी और लोगों की सुविधा के लिये निर्णय लिया। मैं अचानक बदली व्यवस्था के बारे में कुछ नहीं कह सकता।
सुशीलकुमार तिवारी,डीएसपी ट्रेफिक

 

पुलिस की सतर्कता…मोबाइल चोरी व जेबकटी करने वाले आधा दर्जन से अधिक बदमाश पकड़ाये

उज्जैन। महाकाल भगवान की सवारी के दौरान भीड़ में मोबाइल चोरी और जेबकटी की वारदातों को अंजाम देने वाले आधा दर्जन से अधिक बदमाशों को पुलिस टीम ने पकड़कर महाकाल और खाराकुआं थाना पुलिस के सुपुर्द किया है।पिछले सप्ताह महाकालेश्वर मंदिर में दर्शन और सवारी निकलने के दौरान दो दर्जन से अधिक लोगों के साथ मोबाइल चोरी व जेबकटी की वारदातें हुई थीं जिनकी शिकायतें महाकाल और खाराकुआं थाने में दर्ज हुई।

कल निकली महाकाल भगवान की सवारी के दौरान सादी वर्दी में पुलिसकर्मी बदमाशों पर नजर रखे हुए थे जिसका फायदा यह हुआ कि पुलिस टीम ने आकाश पिता गेंदालाल निवासी भेरूनाला, जीतू उर्फ जितेन्द्र पिता हरिनारायण निवासी बडऩगर, विनय पिता वीरेन्द्र चौहान निवासी सुकलिया इंदौर, मो. हुसैन पिता मो. जफर अली निवासी रेडियोचौक इंदौर, सुनील पिता बाबूलाल निवासी शिवपुरी को मोबाइल चोरी और जेबकटी करते हुए रंगे हाथों पकड़कर महाकाल पुलिस के सुपुर्द किया।

इसी प्रकार गोपाल मंदिर व छत्रीचौक क्षेत्र से पुलिस टीम ने राजेश पिता बाबूलाल निवासी देवास, राजेश उर्फ राजीव पिता जगदीश निवासी भौरासा देवास और गोपाल पिता मांगूसिंह निवासी फाजलपुरा को मोबाइल चोरी करते रंगे हाथों पकड़कर खाराकुआं पुलिस के सुपुर्द किया है। पकड़ाये बदमाशों के आपराधिक रिकार्ड खंगालने के बाद पुलिस द्वारा कार्रवाई की जाएगी।