मकर संक्रांति पर्व स्नान की चिंता खत्म…

अब शिप्रा में हर-हर नर्मदे…

१५० एमसीएफटी पानी देवास बैराज से नदी के रास्ते आया….

५० एमसीएफटी पानी पाइप लाइन से त्रिवेणी बैराज तक पहुंचा….

उज्जैन– कलेक्टर के निर्देश और पीएचई अधिकारियों के प्रयासों से शिप्रा नदी में मौजूद खान नदी के गंदे और बदबूदार पानी को बहाकर नदी खाली करने के बाद उसमें नर्मदा का स्वच्छ पानी स्टोर किया गया है।

रामघाट पर नर्मदा का स्वच्छ पानी स्टोर होने के बाद श्रद्धालुओं सहित नियमित स्नान करने वालों में भी खुशी है। १५ जनवरी मकर संक्रांति पर्व पर हजारों श्रद्धालु अब इसी स्वच्छ जल में स्नान, पूजन अर्चन करेंगे।