मध्यप्रदेश में 11 तक पहुंचेगा मानसून

भोपाल/उज्जैन। दक्षिण-पश्चिम मानसून धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है। मानसून के 11 जून को दक्षिणी मप्र में दस्तक देने की पूरी संभावना है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक मानसून की आहट मिलते ही राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के कई स्थानों पर मानसून पूर्व की गतिविधियों में इजाफा होने लगा है। कल भोपाल में 80 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चली और कुछ स्थानों पर तेज बौछारें पड़ीं। इसी क्रम में रविवार से मालवा,निमाड़ क्षेत्र में तेज हवा चलने के साथ ही बौछारें पडऩे का सिलसिला शुरू होने के आसार हैं।

४८ से ७२ घंटे में मप्र में प्रवेश करेगा मानसून
मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक दक्षिण-पश्चिम मानसून के 24 घंटे में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, उड़ीसा से और आगे बढऩे की पूरी संभावना है। अगले 48 से 72 घंटे के दौरान मानसून दक्षिण गुजरात, दक्षिण मप्र, छत्तीसगढ़ के शेष हिस्से को छू सकता है। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी ममता यादव ने बताया कि रविवार से इंदौर, उज्जैन, होशंगाबाद संभाग के जिलों में प्रीमानसून एक्टिविटी के तहत बौछारें पडऩे का सिलसिला शुरू हो सकता है। इस दौरान राजधानी भोपाल में भी पानी गिरने के आसार हैं।