VIDEO:मध्य प्रदेश में नदियां उफान पर, भारी बारिश से बिगड़े हालात, स्कूल बंद, अलर्ट जारी

मध्य प्रदेश के कई इलाकों में पिछले कुछ दिनों से हो रही लगातार बारिश से हाहाकार मचा है। इन इलाकों में बाढ़ की स्थितियां बन गई हैं। घर पानी में डूब गए हैं तो लोगों को रेस्क्यू कराने का काम तेजी से चल रहा है। करीब 11 जिलों में मूसलाधार बारिश और बाढ़ का ज्यादा असर है, वहीं 32 जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। मप्र में सितंबर में भी बारिश का सितम जारी है। भारी बारिश से मालवा-निमाड़ की ज्यादातर नदियां उफान पर हैं।

बारिश की स्थिति को देखते हुए भोपाल, मंडला, सिवनी जिलों के स्कूलों की छुट्टी कर दी गई है। प्रशासन ने जबलपुर, नरसिंहपुर, होशंगाबाद और हरदा सहित अन्य इलाकों में अलर्ट जारी किया है। भोपाल में रविवार को एक डेढ़ साल के बच्चे समेत दो लोगों की मौत हो गई।लगातार भारी बारिश के कारण जिला कलेक्टर भोपाल तरुण पिथोडे ने सभी स्कूलों को बंद रखने के निर्देश दिए हैं। डीएम ने कहा कि सभी सरकारी, निजी, सीबीएसई और आईसीएसई स्कूल सोमवार को बंद रहेंगे। इसके अलावा अन्य जिलों में भी अलर्ट जारी किया गया है।

तेज बहाव में बह गई बच्ची
स्थानीय पुलिस ने बताया कि रविवार को प्रेमपुरा घाट के पास एक युवक ऊपरी झील में बह गया। पानी में तेज बहाव और अंधेरे के कारण युवक को नहीं खोजा जा सका। वहीं एक बच्ची अनुष्का का शव पानी में बरामद किया गया। एसएचओ खजुरी एलडी मिश्रा ने कहा कि चाय की दुकान चलाने वाले प्रकाश की बेटी अनुष्का फंदा इलाके में रहती थी। वह अपनी बड़ी बहन पूजा (10) के साथ एक किनारे पर खड़ी थी, तभी उसका पैर फिसल गया और वह बहाव में बह गई।

उज्जैन में 24 घंटों में शहर में 1.28 इंच बारिश हुई। इस आंकड़े के साथ ही शहर की आैसत बारिश का आंकड़ा भी पूरा हो गया। शहर में अब तक आैसत 36 इंच के मुकाबले 36.48 इंच बारिश हो चुकी है। तीन घंटे तक हुई रिमझिम और तेज बारिश से शहर में नईसड़क, गदा पुलिया, हनुमान नाका, दानीगेट, चामुंडा माता चौराहा, ढांचा भवन, विश्व बैंक कॉलोनी, ढाबारोड सहित कई इलाकों में सड़कों पर पानी जमा हो गया। आसपास के शहरों में भी बीते 24 घंटों में तेज बारिश हुई। शिप्रा नदी का जलस्तर भी बढ़ने लगा आैर दोपहर तक घाटों पर बने मंदिरों के साथ छोटा पुल जलमग्न हो गया। छोटे पुल पर 2 से 3 फीट पानी बह रहा है।