महंगाई को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिया बड़ा बयान

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने कहा है कि महंगाई पूरी तरह नियंत्रण में है और 2014 से इसमें कोई वृद्धि नहीं हुई है. सीतारमण ने उद्योग और कर अधिकारियों के साथ मुलाकात के बाद कहा कि मुद्रास्फीति बिल्कुल नियंत्रण में है.

कोई भी हमारी सरकार से मुद्रास्फीति पर सवाल नहीं कर सकता. 2014 से मुद्रास्फीति में कोई वृद्धि नहीं हुई है और यह 2009-14 के दौरान (संप्रग-2) ऊंची थी. उस अवधि के दौरान कमोडिटी की मूल्य वृद्धि दो अंकों में थी.भारत का खुदरा महंगाई दर जुलाई में मामूली घटकर लगातार 12वें महीने केंद्रीय बैंक के मध्यकालिक लक्ष्य चार फीसदी से नीचे बनी रही है. इससे इस विचार को बल मिला है कि अक्टूबर में नीतिगत दर में कटौती हो सकती है. वार्षिक खुदरा महंगाई दर जून में आठ माह की ऊंचाई 3.18 फीसदी से घटकर जुलाई में 3.15 फीसदी रही है. देश फिलहाल सुस्ती का सामना कर रहा है, इसके मद्देनजर RBI से प्रमुख दरों में और कटौती करने की मांग है, ताकि विकास दर, खपत और मांग बढ़े.

केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए और कदम उठाए जाएंगे. उन्होंने कहा कि राजस्व में कमी से सोशल सेक्टर पर खर्च प्रभावित नहीं होगा. बता दें कि वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रस्तावि विलय से कर्मचारियों की नौकरी जाने के खतरे की चिंता को खारिज किया था. उन्होंने कहा था कि विलय के इन निर्णयों से किसी एक कर्मचारी की भी नौकरी नहीं जाएगी.