मानसून सत्र : संसद पहुंचे PM मोदी, कहा सभी दल राष्‍ट्रहित में फैसला करें

नई दिल्‍ली : मानसून सत्र के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद भवन पहुंच गए हैं. मानसून सत्र शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में उम्‍मीद जताई कि राष्‍ट्रहित के सभी दल साथ मिलकर काम करेंगे. उन्‍होंने कहा कि विपक्षी दल जब मिलकर राष्‍ट्रहित के लिए काम करते हैं तो जीएसटी पास होता है.

उन्‍होंने कहा कि मानसून सत्र एक नई उमंग और सुगंध से भरा होगा. गर्मी के बाद पहली वर्षा एक नई सुगंध मिट्टी में भर देती है. विपक्षी दल जब मिलकर राष्‍ट्रहित के लिए काम करते हैं तो जीएसटी पास होता है. साथ ही उन्‍होंने कड़ी मेहनत करने वाले देश के किसानों को नमन किया. मानसून सत्र 18 जुलाई से 12 अगस्त तक होगा.

इससे पहले संसद का मानसून सत्र हंगामेदार रहने के आसार जताए जा रहे हैं. संसद के मानसून सत्र में लोकसभा और राज्यसभा में कम से कम 16 नए विधेयक पेश किए जाएंगे, जिनमें जम्मू एवं कश्मीर वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) विधेयक और नागरिकता संशोधन विधेयक शामिल हैं. नागरिकता संशोधन विधेयक के जरिए सरकार अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने वाले विदेशी नागरिकों के एक खास वर्ग को भारतीय नागरिकता देना चाहती है.

इसके अलावा सरकार की कोशिश राज्य सभा में 16 और लोकसभा में नौ पुराने विधेयकों को परित करवाने की होगी. मानसून सत्र में पेश होने के लिए इन विधेयकों को सूचनीबद्ध किया गया है.

– जीएसटी से जुड़े विधेयक
– बैंकिंग नियमन (संशोधन) विधेयक
– राष्ट्रीय जांच एजेंसी (संशोधन) विधेयक
– गैर-कानूनी गतिविधियां (निरोधक) अधिनियम (संशोधन) विधेयक
– नागरिकता (संशोधन) विधेयक
– भ्रष्टाचार निवारण (संशोधन) विधेयक
– भारतीय प्रबंधन संस्थान विधेयक
– व्हिसल ब्लोअर संरक्षण (संशोधन) विधेयक