मिट्टी के बर्तन में बना खाना बीमारियों से करेगा सुरक्षा

बदलते समय के साथ हमारे रहन सहन के तरीकों में काफी बदलाव आया है। यहां तक की हमारे खाने पीना का तरीका भी बिल्कुल बदल गया है। एक समय था जब महिलाएं खाना बनाने के लिए चूल्हे और मिट्टी का इस्तेमाल करती थी।

लेकिन अब उनकी जगह गैस चूल्हों और ओवन ने ले ली है। अब रोटी बनाने के लिए गैस और नाॅन स्टिक तवे का इस्तेमाल किया जाता है। मिट्टी के बर्तन तो जैसे अब हमारी लाइफस्टाइल का हिस्सा ही नहीं रहे।

लेकिन आप जानते हैं कि मिट्टी के बर्तनों का हमारी हेल्थ को सही रखने में कितना बड़ा योगदान है। पहले के समय में लोग मिट्टी के बर्तन में खाना खाते थे। इसलिए वह कम बीमार पड़ते थे।

अब जो हेल्थ के लिए अच्छा है उसका बाजार में कमबैक तो बनता है। जी हां, अपने बिल्कुल सही सोचा, एक बार फिर से मिट्टी के बर्तनों का चलन आ गया है। चलिए आपको बताते हैं मिट्टी के बर्तनों में खाना खाने के फायदे…

मिलते हैं जरूरी पोषक तत्व- अगर हेल्‍दी रहना हैं तो प्रेशर कुकर की जगह मिट्टी की हांडी में खाना बनाकर खाएं।मिट्टी के बर्तन में बना खाना खाने से हमारे शरीर को जरूरी पोषक तत्व मिलते हैं।

इन पोषक तत्वों में कैल्शियम, मैग्‍नीशियम, सल्‍फर, आयरन, सिलिकॉन, कोबाल्ट, जिप्सम आदि शामिल होते हैं। अगर प्रेशर कुकर में बना खाना खाते हैं तो ये सारे जरूर पोषक-तत्व नष्‍ट हो जाते हैं। इसलिए अगर अपनी सेहत सही रखनी है तो मिट्टी के ही बर्तन में खाना बनाकर खाएं।

मिट्टी के तवे की रोटी देगी कब्ज से राहत- अगर देखा जाए तो आज के समय में बहुत से लोगों को कब्ज की समस्या हो जाती है। इस समस्या से तबी छुटकारा मिल सकता है जब आप मिट्टी के तवे पर बनी रोटी खाएंगे। मिट्टी के तवे पर बनी रोटी खाने से ना सिर्फ कब्ज की समस्या दूर होगी बल्कि गैस की प्राॅबल्म से भी राहत मिलेगी।

माइक्रो न्यूट्रिएंट्स खत्‍म नहीं होते- अगर बात करें माइक्रो न्यूट्रीएंट्स की तो वह मिट्टी के बर्तन में बनी दाल और सब्जी में 100 प्रतिशत पाए जाते हैं। जबकि, प्रेशर कुकर में बनी दाल और सब्जी में 87 प्रतिशत पोषक तत्व खत्म हो जाते हैं। अब तो डाइटिशियन और न्यूट्रिशियन भी सलाह देते हैं कि मिट्टी के बर्तन में ही खाना बनाकर खाएं।

साथ ही मिट्टी के तवे में रोटी बनाने से उसके पौष्टिक तत्व खत्म नहीं होते है। मिट्टी के बर्तन में खाना बेहद टेस्‍टी बनता है। साथ ही इसमें प्रोटीन भी भरपूर मात्रा में होता है जो शरीर को कई बीमारियों से बचाता है।

दिखने में भी लगते हैं सुंदर- मिट्टी के बर्तन दिखने में भी बेहद सुंदर और आकर्षक लगते है। हां इन्हें थोड़ा संभाल कर रखना पड़ता है, क्योंकि नीचे गिरते ही ये टूट जाते हैं। चाय पीने के शौकिन हैं तो आम कप की बजाएं कुल्हड़ में चाय पीने का मजा जरूर लें। मिट्टी के बर्तन फायदेमंद के साथ-साथ काफी सस्ते भी होते हैं।अगर बीमारियों से बचना चाहते हैं और मजेदार पकवान खाना चाहते हैं तो अभी मिट्टी के बर्तनों का इस्तेमाल करना शुरू कर दें।