मीटिंग: कलेक्टर ने निर्वाचन नोडल अधिकारियों को दिए निर्देश

एफएसटी-एसएसटी को दें चिकित्सा किट

निर्वाचन आयोग द्वारा हर मतदान केंद्र पर मतदाताओं के लिए सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने के साथ ही निर्वाचन कार्य में लगे समूचे अमले का भी पूरा ध्यान रखे जाने के निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर शशांक मिश्र ने शुक्रवार को निर्वाचन के लिए नियुक्त समस्त नोडल अधिकारियों की बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि निर्वाचन आयोग के निर्देश अनुसार जिले के लिए करीब 2 हजार चिकित्सा किट्स तैयार करवाकर चुनाव कार्यालय को दें जिससे उन्हें एफएसटी-एसएसटी तथा अन्य निर्वाचन की ड्यूटी में लगे दलों को दिए जाने के साथ ही समस्त मतदान केन्द्रों पर किट्स भिजवाई जा सके।

इसी के साथ प्रत्येक मतदान केन्द्र पर स्वास्थ्य कार्यकर्ता के रूप में यथासंभव उसी क्षेत्र की एएनएम, एमपीडब्ल्यू, उषा व आशा कार्यकर्ता को लगाया जाए। संचालन निर्वाचन के प्रमुख नोडल अधिकारी ऋषभ गुप्ता ने किया। बैठक में एडीएम आरपी तिवारी, जिला पंचायत सीईओ नीलेश पारिख सहित सभी नोडल अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में निर्वाचन सम्बन्धी प्रत्येक कार्य की समीक्षा नोडल अधिकारीवार की गई एवं आवश्यकनिर्देश प्रदान किए गए।

मतदाता सूची में नाम जुड़वाएं

बैठक में बताया कि इस बात का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए कि मतदाता सूची में नाम जुड़वाने, संशोधन करवाने की अंतिम तिथि 19 अप्रैल है। अत: हर वयस्क अपना नाम सूची में जुड़वाए। इसके साथ ही सभी अधिकारी-कर्मचारी जो स्थानांतरित होकर आए हैं, वे उज्जैन की मतदाता सूची में अपना नाम जुड़वाएं। इस सम्बन्ध में अपर कलेक्टर ऋषभ गुप्ता ने निर्देश दिए कि इस बात का रेंडम चैक भी करवाया जाए कि किसी विशिष्ट व्यक्ति का नाम मतदाता सूची से बाहर तो नहीं है।

मतदान के लिए एसएमएस करवाएं

कलेक्टर ने निर्देश दिए मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित करने के उद्देश्य से विभिन्न मोबाइल नेटवर्क से बल्क एसएमएस भी करवाएं। इसके अलावा मतदाता जागरूकता अभियान के अंतर्गत मतदान की तिथि बार-बार हाईलाइट किया जाए।

हर मतदान केंद्र पर 2 अतिरिक्त कर्मचारी

कलेक्टर ने बताया इस बार प्रत्येक मतदान केन्द्र पर 2 अतिरिक्त कर्मचारी भी लगाए जा रहे हैं। इनमें से एक पानी लाने का कार्य करेगा तथा दूसरा सफाई कार्य करेगा। इसके अलावा एक स्वास्थ्यकर्मी भी वहां तैनात रहेगा।

जहां नेटवर्क पुअर हो सीसीटीवी लगाएं

कलेक्टर ने बताया इस बार लगभग 162 मतदान केन्द्रों पर वेब कास्टिंग होगी तथा 204 मतदान केन्द्रों पर सीसीटीवी लगाए जाएंगे। यद्यपि इनका अन्तिम निर्धारण प्रेक्षकगणों द्वारा मतदान केन्द्रों के निरीक्षण के उपरांत किया जाएगा। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि जिन स्थानों पर पुअर इंटरनेट नेटवर्क हो वहां वेब कास्टिंग के स्थान पर सीसीटीवी लगाया जाना बेहतर होगा।