मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सेवा शिविर में 1231 मरीजों के पंजीयन

इन्दौर। मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सेवा शिविर का आयोजन पं. गोविंद वल्लभपत जिला चिकित्सालय इंदौर में दिनांक 05 जनवरी 2018 को आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ विधायक महेंद्र हार्डिया के मुख्य आतिथ्य में हुआ। इस अवसर पर विधायक सुदर्शन गुप्ता, (सांसद प्रतिनिधि) बंदु माखीजा, (महापौर के स्वास्थ्य प्रतिनिधि) भरत पारीख पार्षद, अमेरिका तथा चीन से आए मेडिकल विशेषज्ञ डॉ. विजय साल्वी, डॉ. रवींद्र तोमर उपस्थित थे।
मुख्य अतिथि व विधायक महेंद्र हार्डिया ने अपने उद्बोधन में कहा कि शासन संवेदनशील के साथ स्वास्थ्य सेवाएं आम जनता को उपलब्ध करवाना चाहती हैं। इन शिविरों के माध्यम से गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली गंभीर बीमारी से पीडि़त जनता का इलाज शीघ्रता से किया जाएगा।
सिलिकानसिटी (अमेरिका) से आये डॉ. विजय साल्वी ने कहा कि विदेशों में हो रहे अनुसंधान व तकनीक का फायदा भारत की जनता को भी मिले ऐसा हमारा प्रयास होगा। उन्होंने भारत में किये जा रहे स्वास्थ्य संबंधित प्रयासों की सराहना की। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नायक ने बताया कि इस स्वास्थ्य शिविर में चौइथराम अस्पताल, मेदांता अस्पताल, ग्रेटर कैलाश अस्पताल, सी.एच.एल. अपोलो अस्पताल, भंडारी अस्पताल, अरविंदों अस्पताल, आकाश अस्पताल आदि अन्य निजी चिकित्सा संस्थानों ने अपनी सेवाएं दी। शिविर में जिले के कुल 1231 रोगियों के पंजीयन हुए जिनमे से राज्य बीमारी सहायता निधि में 382 तथा राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम में 849 हितग्राहियों ने अपना पंजीयन कराया। इस शिविर में अधिकांश रोगी हृदय रोग, कैंसर तथा हड्डी की गंभीर बीमारी से ग्रसित थे। बच्चो में जन्मजात हृदय विकृति तथा न्यूरोमोटर तथा क्लब फुट के मरीजो की संख्या ज्यादा थी। हितग्राहियों तथा उनके परिजनों के लिए शिविर में भोजन की व्यवस्था नि:शुल्क की। कई सामाजिक संगठनों ने चाय की व्यवस्था नि:शुल्क की। इसमें स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारी चिकित्सक एवं कर्मचारियों ने सक्रिय सहभागिता की। संपूर्ण शिविर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एच.एन. नायक के सफल निर्देशन एवं नेतृत्व में हुआ। इसमें सभी स्तरों पर सिविल सर्जन डॉ. एम.एस. मंडलोई की सक्रिय सहभागिता थी। कार्यक्रम का संचालन जिला विस्तार एवं माध्यम अधिकारी मनीष पंडित ने किया।