मुसलमानों का भारत में क्या काम, पाक या बांग्लादेश चले जाएं:कटियार

6 फरवरी को लोकसभा में भारतीय मुसलमानों को पाकिस्तानी कहे जाने के बढ़ते प्रचलन को देखते हुए एआईएमआईएम अध्यक्ष और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कठोर सजा के साथ तीन साल की सजा की मांग की थी। यह मांग भाजपा के सांसद विनय कटियार को इतनी नागवार गुजरी कि उन्होंने कह दिया कि मुसलमानों की भारत में आवश्यकता नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि मुसलमानों को इस देश में रहना ही नहीं चाहिए।

विनय कटियार ने कहा कि अगर मुसलमानों को पाकिस्तानी कहने पर सजा दिए जाने की बात है तो सजा उन लोगों को भी दी जानी चाहिए जो राष्ट्रीय गीत वंदे मातरम नहीं गाते या फिर गीत का आदर नहीं करते। उन्होंने कहा कि सजा उनलोगों को भी दी जानी चाहिए जो राष्ट्रीय झंडे की बेइज्जती करते हैं, देश में पाकिस्तानी झंडा फहराते हैं।

ओवैसी पर पलटवार करते हुए विनय कटियार ने कहा कि मुसलमानों को इस देश में रहना ही नहीं चाहिए। देश के बंटवारे की वजह ही मुसलमान थे और जनसंख्या के आधार पर उनका बंटवारा कर दिया गया तो फिर उन्हें इस देश में रहने की आवश्यकता क्या है।

उन्होंने कहा कि उनकी मांग के अनुरूप उन्हें एक अलग भू-भाग दे दिया गया है वो वहां जाकर रहें। उनके लिए दो-दो देश हैं बांग्लादेश और पाकिस्तान वो जाएं और वहां जाकर रहें उनका यहां क्या काम है।