मेष

दैनिक

अपने दिन की शुरुआत कसरत से करें- यही वक़्त है जब आप अपने बारें में अच्छा महसूस करने की शुरुआत कर सकते हैं- इसे अपनी दिनचर्या में शामिल करें और नियमित रखने की कोशिश करें। अगर आप विशेषज्ञ की सलाह के बिना निवेश करेंगे, तो नुक़सान मुमकिन है। पारिवारिक जीवन को पर्याप्त समय और ध्यान दें। दफ़्तर में ज़्यादा वक़्त बिताना घरेलू मोर्चे पर दिक़्क़त खड़ी कर सकता है। अपने परिवार को इस बात का एहसास होने दें कि आप उनका ख़याल रखते हैं। रोमांस का मौसम है। लेकिन अपने जज़्बात क़ाबू में रखें, नहीं तो रिश्ते में खटास पैदा हो सकती है। संतोषजनक परिणाम पाने के लिए काम को योजनाबद्ध तरीक़े से करें, दफ़्तर की परेशानियों को हल करने में आपको मानसिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है। आपको अपने दायरे से बाहर निकलकर ऐसे लोगों से मिलने-जुलने की ज़रूरत है, जो ऊँची जगहों पर हों। जीवनसाथी का आत्मकेन्द्रित व्यवहार आपको नागवार गुज़रेगा। उपाय :- ज्ञानी, विद्वान और न्यायकर्ता लोगों का सम्मान करने से आर्थिक स्थिति अच्छी होगी।

साप्ताहिक 8 Jan 2018 – 14 Jan 2018

आपकी सेहत नाजुक रह सकती है और पिता के स्वास्थ्य के लिए समय प्रतिकूल है। लिहाज़ा अपना और पिताजी की सेहत का ख्याल रखें। साथ ही विवादों से भी दूर रहें। सफलता पाने के लिए मेहनत करनी पड़ेगी। इसके लिए स्वयं प्रयास करने होंगे। अच्छी बात है कि आपको सीनियर्स का सपोर्ट मिलेगा। धन लाभ के योग बनेंगे और समाज में भी मान-सम्मान बढ़ेगा।

वार्षिक

मेष राशिफल 2018 के अनुसार यह वर्ष आपके लिए कई मायने में मेष राशि के जातकों के लिए महत्वपूर्ण रहने वाला है। इस दौरान आपकी ज़िन्दगी में कई अहम सकारात्मक बदलाव होंगे। मेष राशिफल 2018 के मुताबिक़ शुरुआत में आपको कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन जल्द ही आप इनसे बाहर निकल आएंगे। इस साल समझदारीपूर्वक लिए गए आपके कुछ फ़ैसले आपको बेहतर परिणाम देंगे, हालाँकि गृहस्थी के मामलों में आपको मिले-जुले परिणाम ही मिलेंगे। परिवार के सदस्यों के बीच आपसी कहासुनी हो सकती है और कुछ समय के लिए परिवार में शांति और ख़ुशियों की कमी रहेगी। इससे आप थोड़े परेशान हो सकते हैं। साल 2018 में आपके सितारों का कहना है कि काम के सिलसिले में आपको घर और परिवार से कुछ दिनों के लिए दूर भी रहना पड़ सकता है। परिवार के साथ सुखःद पल बिताने का कम ही मौक़ा मिलेगा। व्यस्तता के कारण आपके खाने का समय भी प्रभावित होगा जिससे आपकी सेहत थोड़ी नाज़ुक हो सकती है।

            kalash २०१६  kalash

                   decoration
०५ जनवरी (मंगलवार) सफला एकादशी
०६ जनवरी (बुधवार) वैष्णव सफला एकादशी
२० जनवरी (बुधवार) पौष पुत्रदा एकादशी
०४ फरवरी (बृहस्पतिवार) षटतिला एकादशी
१८ फरवरी (बृहस्पतिवार) जया एकादशी
०५ मार्च (शनिवार) विजया एकादशी
१९ मार्च (शनिवार) आमलकी एकादशी
०३ अप्रैल (रविवार) पापमोचिनी एकादशी
०४ अप्रैल (सोमवार) गौण पापमोचिनी एकादशी वैष्णव पापमोचिनी एकादशी
१७ अप्रैल (रविवार) कामदा एकादशी
०३ मई (मंगलवार) बरूथिनी एकादशी
१७ मई (मंगलवार) मोहिनी एकादशी
०१ जून (बुधवार) अपरा एकादशी
१६ जून (बृहस्पतिवार) निर्जला एकादशी
३० जून (बृहस्पतिवार) योगिनी एकादशी
०१ जुलाई (शुक्रवार) गौण योगिनी एकादशी वैष्णव योगिनी एकादशी
१५ जुलाई (शुक्रवार) देवशयनी एकादशी
३० जुलाई (शनिवार) कामिका एकादशी
१४ अगस्त (रविवार) श्रावण पुत्रदा एकादशी
२८ अगस्त (रविवार) अजा एकादशी
१३ सितम्बर (मंगलवार) परिवर्तिनी एकादशी
२६ सितम्बर (सोमवार) इन्दिरा एकादशी
१२ अक्टूबर (बुधवार) पापांकुशा एकादशी
२६ अक्टूबर (बुधवार) रमा एकादशी
१० नवम्बर (बृहस्पतिवार) देवुत्थान एकादशी
११ नवम्बर (शुक्रवार) गौण देवुत्थान एकादशी वैष्णव देवुत्थान एकादशी
२५ नवम्बर (शुक्रवार) उत्पन्ना एकादशी
१० दिसम्बर (शनिवार) मोक्षदा एकादशी
२४ दिसम्बर (शनिवार) सफला एकादशी
                   decoration

कभी कभी एकादशी व्रत लगातार दो दिनों के लिए हो जाता है। जब एकादशी व्रत दो दिन होता है तब स्मार्थ-परिवारजनों को पहले दिन एकादशी व्रत करना चाहिए। दुसरे दिन वाली एकादशी को दूजी एकादशी कहते हैं।