मेहनत के आगे किस्मत भी टेकती है घुटने

एक गांव में कुछ ज्योतिषि रहते थे। उन्होंने एक भविष्यवाणी की, कि आने वाले 12 साल तक उनके गांव में पानी की एक बूंद नहीं पड़ेगी। इससे गांववासी काफी व्यथित हो गए और भविष्यवाणी सुनकर गांव जाने का फैसला कर लिया। कुछ दिनों के अंदर ही वे गांव छोड़कर जाने लगे। इसी बीच एक किसान ऐसा भी था, जिसने गांव नहीं छोड़ा। उसने बाकियों से कहा कि वह अपने गांव से काफी प्यार करता है।

उसने सोचा कि 12 साल तक बारिश तो होने वाली नहीं है तो फिर हल का क्या काम? उसने हल उठाया और एक कोने में रख दिया।एक हफ्ते तक वह लगातार यही सोचता रहा कि बिना पानी के कैसे दिन गुजरेंगे। जिंदगी कैसी बीतेगी। कई दिनों तक सोचने के बाद उसने एक फैसला किया कि वह हल उठाकरा खेत जोतेगा फिर चाहे आगे क्या हो? वह तुरंत उठा और खेत जोतने चला गया।

कई दिनों तक मेहनत करते हुए वह किसान लगातार खेत जोतता रहा। इसी दौरान उसके खेत के ऊपर से एक बादल आसमान से गुजरा। वहीं से बादल ने किसान से बात की। बादल ने कहा कि किसान, तुमने सुना नहीं कि यहां पर 12 साल तक पानी नहीं बरसेगा, फिर तुम क्यों बेवजह मेहनत कर रहे हो।

इससे क्या होने वाला है।बादल को बरसते देखकर बाकी बादल भी वहां आ गए और पूरी बात सुनी। बात को सुनकर उन्होंने भी फैसला किया कि वे बादल का साथ देंगे और सब साथ में बरसने लगे। बादलों के बरसने की वजह से ज्योतिषि की भविष्‍यवाणी झूठी साबित हो गई।