मैरी कॉम ने रचा इतिहास,6 गोल्ड जीतने वाली दुनिया की पहली महिला बॉक्सर बनीं

नई दिल्ली. एमसी मैरीकॉम ने विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में छठी बार स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने 48 किलोग्राम भारवर्ग के फाइनल में यूक्रेन की हना ओखोता को 5-0 से हराया। वे विश्व चैम्पियनशिप में छह गोल्ड जीतने वाली दुनिया की पहली महिला बॉक्सर बनीं। इससे पहले मैरीकॉम और आयरलैंड की केटी टेलर के नाम पांच-पांच गोल्ड थे। केटी अब प्रोफेशनल बॉक्सर बन गई हैं। इस कारण वे इस बार टूर्नामेंट में नहीं उतरीं।

जीत के बाद मैरीकॉम ने कहा, ‘यह मेरे लिए बहुत मुश्किल रहा। आपके प्यार से यह संभव हो सका। वेट कैटेगरी से मैं संतुष्ट नहीं थी। 51 कैटेगरी ओलिंपिक में मेरे लिए मुश्किल होगा, लेकिन मैं खुश हूं।’ हना से मुकाबले के बारे में उन्होंने कहा कि यूक्रेनी खिलाड़ी के खिलाफ मैच आसान नहीं था, क्योंकि वह मुझसे लंबी थी।

इस चैम्पियनशिप में उतरने से पहले मैरीकॉम ने कहा था कि वे सौ फीसदी फिट हैं और 2020 टोक्यो ओलिंपिक में भी उतरेंगी। टूर्नामेंट से पहले सभी खिलाड़ियों का फिटनेस चेक करने के लिए 100 मीटर की रेस हुई थी। वे रेस में दूसरे नंबर पर रही थीं। मैरीकॉम अगर गोल्ड जीतने में सफल रहीं तो वर्ल्ड चैम्पियनशिप में छह गोल्ड जीतने वाली दुनिया की पहली महिला बॉक्सर बन जाएंगी।