यदि दिल को सुरक्षित रखना है तो हर दिन खाएं बादाम…

दिल से जुड़ी बीमारियां अब सिर्फ उम्रदराज लोगों को ही नहीं होती बल्कि बड़ी संख्या में युवा भी तेजी से इसकी चपेट में आ रहे हैं। यही वजह है कि बड़ी तादाद में लोग हार्ट प्रॉब्लम्स को गंभीरता से लेने लगे हैं और दिल को स्वस्थ रखने के लिए सही खानपान से लेकर एक्सर्साइज तक सबकुछ कर रहे हैं।
भारतीयों को दिल की बीमारी का खतरा
डॉ मुताबिक, मौजूदा समय में भारत के लोगों में अपने पूर्वजों की तुलना में दिल की बीमारियां ज्यादा देखी जा रही हैं। न्यूट्रीएंट्स अबाउट इंडियन न्यूट्रिशन ऐंड हार्ट हेल्थ नाम के जर्नल में प्रकाशित अपनी रिपोर्ट में डॉ ने बताया कि कई स्टडीज में यह बात साबित हो चुकी है कि भारतीयों की जेनेटिक बनावट ही कुछ ऐसी ही कि उन्हें हार्ट डिजीज का खतरा सबसे ज्यादा है।

दिल को स्वस्थ रखता है बादाम

कई दूसरे न्यूट्रिशन एक्सपर्ट्स के साथ मिलकर डॉ कलीता ने इस बात की जांच की कि शरीर में रुष्ठरु यानी बैड कलेस्ट्रॉल को कम करने में बादाम की क्या भूमिका है? डॉ कहते हैं, वैसे तो यह एकप्रमाणित तथ्य है कि दिल को स्वस्थ रखने में बादाम अहम भूमिका निभाता है, बावजूद इसके हमने एक सेकेंड्री रिसर्च की और करीब 1500 अनुसंधानकर्ताओं की स्टडी को फिर से पढ़ा। इस रिव्यू के नतीजे बताते हैं कि बादाम, डिस्लिपिडीमिया को नियंत्रित करता है, शरीर में मौजूद गुड कलेस्ट्रॉल को कम किए बिना।

हर दिन कितना बादाम?

डॉ  की सलाह है कि अगर आप अपने दिल को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो 45 ग्राम यानी करीब 34 से 35 बादाम हर दिन खाना चाहिए। भीगा हुआ या बिना भीगा हुआ? डॉ  कहते हैं, इस विषय में बहुत अधिक रिसर्च नहीं की गई है और यह जानना मुश्किल है कि भीगे हुए बादाम खाना बेहतर है या सामान्य बादाम।

हालांकि मैं बिना भीगे हुए बादाम खाने की सलाह दूंगा क्योंकि बादाम के छिलकों में विटमिन ई प्रचूर मात्रा में होता है। लिहाजा अगर आप अब तक भीगे हुए बादाम का सेवन कर रहे थे तो अब वक्त आ गया है कि बिना भीगे हुए बादाम खाना शुरू कर दें।