युवाओं ने अहिर नृत्य से लोगों की तालियां बटोरी

उज्जैन। विश्वविद्यालयीन युवा उत्सव में भागीदारी कर रहे १० विश्वविद्यालयों के प्रतिभागियों ने आज रंगोली, लोकनृत्य, पाश्चात्य नृत्य, एकल गायन, व्यंग्य चित्र आदि विधाओं के माध्यम से समा बांध दिया। राजीव गांधी प्रोद्योगिकी विश्वविद्यालय भोपाल के लोकनृत्य दल ने महाकौशल क्षेत्र के सुप्रसिद्ध अहिर नृत्य की प्रस्तुति देकर खूब तालियां बटौरी।
सुबह विक्रम कीर्ति मंदिर में लोकनृत्य विधा में बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के दल ने राजस्थानी लोकनृत्य, राजा छत्रसाल विश्वविद्यालय छतरपुर के दल ने भी लोकनृत्य प्रस्तुत किया। इधर सिंधिया प्राच्य शोध संस्थान में रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की प्रतिभागी परिधि तोमर ने बताया कि वह भारतीय संस्कृति से जुड़ी रंगोली बना रही है।

वहीं जीवाजीराव विश्वविद्यालय की प्रतिभागी निधि बरैया ने बताया कि वह ३डी रंगोली का निर्माण कर रही है। युवा उत्सव के संबंध में जानकारी देते हुए विद्यार्थी कल्याण संकायअध्यक्ष प्रो. राकेश ढंड ने बताया कि स्वर्ण जयंती समारोह में पाश्चात्य, एकल गायन, पाश्चात्य समूह गायन की प्रस्तुति हुई। दोपहर ३.३० बजे विश्वविद्यालय में मुक्ता काशी मंच पर राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री संजय पाठक तथा फिल्म अभिनेता चमकी पांडे मुम्बई की अगुवाई में पुरस्कार वितरण समारोह माधव भवन मुक्ता काशी मंच पर होगा।