यूं करें सदाबहार बनारसी साड़ी की देखभाल, ताकि वह चले सालों-साल

शादी हो या फिर कोई बड़ा मौक़ा भारतीय महिलाओं की पहली पसंद होती हैं, पारंपरिक बनारसी साड़ियां. सबसे अच्छी बात यह है कि ये सदाबहार हैं और साल के बारहों महीने इनकी मांग एक-सी बनी रहती है.

यदि इनका सही तरीक़े से रखरखाव किया जाए तो ये आजीवन आपके साथ बनी रहेंगी और आप इन्हें अपनी आनेवाली ‌पीढ़ियों के लिए भी सहेज कर सकती हैं. यहां हमारे एक्सपर्ट विनीत छाजेड़ बता रहे हैं कि बनारसी साड़ियों की देखभाल किस तरह की जानी चाहिएcबनारसी साड़ी को दूसरे कपड़ो से हमेशा अलग रखें और इसे ऐसी जगह पर रखें जहां रौशनी न आती हो.

* यूं तो बनारसी साड़ियों को ड्राइक्लीन ही कराना चाहिए, लेकिन यदि यह संभव नहीं है तो आप हल्के साबुन के घोल से साड़ी को हल्के हाथों से साफ़ करें और ठंडे पानी से धो लें.

* यदि दाग़ ज़िद्दी हैं तो पेट्रोल का उपयोग कर ‌इन्हें मिटाएं. सौम्य डिटर्जेंट और प्रोटीन स्टेन रिमूवर का इस्तेमल करने से आप बनारसी साड़ी पर लगे जूस, आइस क्रीम और चाय के दाग़ आसानी से मिटा सकती हैं.

* बनारसी साड़ी को धोते समय ब्रश का इस्तेमाल कभी न करें, क्योंकि इससे साड़ी के फटने का डर रहता है.

* जब साड़ी को आयरन कर रही हों तो इसके नीचे कॉटन का कपड़ा लगाएं और तापमान को कम रखें.

* नेफ़्थेलीन बॉल्स को सीधे ही साड़ी में डालकर कभी न रखें, क्योंकि यह साड़ी के फ़ैब्रिक को ख़राब कर सकती हैं. नेफ़्थेलीन बॉल्स को कपड़े की एक पोटली में रखें और फिर इसे साड़ी में रखा जा सकता है.