राहुल गांधी दीपावली के बाद संभाल सकते हैं कांग्रेस की कमान

नई दिल्‍ली: राहुल गांधी दीपावली के बाद कांग्रेस पार्टी के अध्‍यक्ष बन सकते हैं. पार्टी सूत्रों के मुताबिक यदि कोई पार्टी के भीतर इस पद के लिए उनको चुनौती नहीं देता है तो वह निर्विरोध अध्‍यक्ष बन सकते हैं. फिलहाल पार्टी की कमान सोनिया गांधी के पास है और वह पिछले 19 वर्षों से इस पद पर हैं. सोनिया गांधी ने कांग्रेस में सबसे अधिक समय तक पार्टी अध्‍यक्ष रहने का रिकॉर्ड बनाया है. राहुल गांधी को कांग्रेस अध्‍यक्ष बनाने के लिए कई राज्‍यों ने प्रस्‍ताव भी पारित कर दिए हैं.

ओडिशा प्रदेश कांग्रेस कमेटी (ओपीसीसी) ने बुधवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से पार्टी अध्यक्ष का पद संभालने का अनुरोध किया. भुवनेश्‍वर में कांग्रेस भवन में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नवनिर्वाचित 415 सदस्यों की बैठक में इस संबंध में निर्विरोध तरीके से एक प्रस्ताव पारित किया गया. ओपीसीसी के अध्यक्ष प्रसाद हरिचंदन ने बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, ”राहुल जी से कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभालने का अनुरोध करने के लिए एक निर्विरोध प्रस्ताव पारित कर दिया गया है.”

इसी तरह हरियाणा कांग्रेस ने आमराय से एक प्रस्ताव पारित कर पार्टी आलाकमान सोनिया गांधी से राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने का अनुरोध किया. यह प्रस्ताव पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा लाये जिसका प्रदेश पार्टी प्रमुख अशोक तंवर, कांग्रेस विधायक दल नेता किरन चौधरी और राज्यसभा सदस्य कुमारी सैलजा ने समर्थन किया. करीब 200 नव निर्वाचित प्रतिनिधियों ने राहुल गांधी को पार्टी उपाध्यक्ष से पार्टी अध्यक्ष के पद पर पदोन्न्त किए जाने के लिए सहमति प्रदान की. दूसरा प्रस्ताव भी हुड्डा ही लाये. इसके जरिए सोनिया गांधी को अगले प्रदेश पार्टी प्रमुख पर आखिरी फैसला लेने के लिए अधिकृत किया गया. इस बीच हुड्डा ने संवाददाताओं से कहा कि पार्टी के नेता और कार्यकर्ता चाहते हैं कि राहुल को पार्टी अध्यक्ष बनाया जाए.

इन सबके बीच पश्चिम बंगाल कांग्रेस ने पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी को सर्वसम्मति से पार्टी का अगला अध्यक्ष बनाने और उन्हें एवं पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पश्चिम बंगाल कांग्रेस का अगला अध्यक्ष चुनने के लिए अधिकृत करने के समर्थन में प्रस्ताव पास किया है. राज्य कांग्रेस के अध्यक्ष और सांसद अधीर चौधरी ने संवाददाताओं को बताया, ”हमने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को पार्टी का अगला अध्यक्ष चुनने के लिए सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पास किया. और दूसरा प्रस्ताव उन्हें और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया को पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस समिति का अगला अध्यक्ष चुनने के लिए अधिकृत किया है. प्रस्तावों की कॉपी हमने पार्टी आलाकमान को भेज दी है.”

इसके साथ ही कांग्रेस की महिला इकाई की प्रमुख ने वडोदरा में कहा कि ”समय आ गया” है कि अब पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपनी मां सोनिया गांधी से पार्टी की कमान अपने हाथों में ले लें. अखिल भारतीय महिला कांग्रेस (एआईएमसी) की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने कहा कि राहुल गांधी को अब आगे आकर नेतृत्व करना चाहिए और मुख्य विपक्षी पार्टी के अध्यक्ष के तौर पर कमान संभालनी चाहिए.

उन्होंने कहा, ”मैं गांधी की पक्की समर्थक हूं और पार्टी चाहती है कि वह पार्टी अध्यक्ष का पदभार संभालें. अब ऐसा होने का वक्त आ गया है.” मुंबई महिला कांग्रेस की उपाध्यक्ष भावना जैन ने भी देव के इन विचारों से सहमति जताई. उन्होंने कहा, ”उन्हें पार्टी अध्यक्ष के तौर पर कमान अपने हाथों में लेनी चाहिए.”