रूप चौदस पर चेहरे पर लगाएं ये खास उबटन

त्योहारों का मौसम शुरू हो चुका है। ऐसे में महिलाएं घर की सफाई के साथ-साथ खुद को भी निखारने में भी जुट गई हैं। हिंदू धर्म में महिलाओं के लिए खासकर रूप चौदस का दिन उनके सौन्दर्य को निखारने के लिए माना जाता है। भगवान की भक्ति के साथ खुद के शरीर की देखभाल भी जरुरी होती है। ऐसे में रूप चौदस का दिन स्वास्थ्य के साथ सुंदरता और रूप की आवश्यकता का सन्देश देता है। ऐसे में साफ-सफाई के बाद अब बारी है खुद पर थोड़ा ध्यान देने की। इस रूप-चौदस (रूप-चतुदर्शी) आप हल्दी के इस खास उबटन को लगाकर अपने चेहरे के निखार को दोगुना कर सकती हैं। जानिए इस उबटन को बनाने के सही तरीके के बारे में।

रूप-चौदस के दिन सूर्योदय से पहले उठकर ठंडे पानी से नहाने और हल्दी से बना खास उबटन लगाने की परंपरा है। आइए जानते हैं इस उबटन को बनाने के लिए आपको किन चीजों की जरूरत होती है।

सामग्री-
बेसन – 2 चम्म्च
हल्दी – 2 चम्म्च
चन्दन पाउडर – 1 चम्म्च
मसूर दाल का पाउडर – 1 चम्म्च (optional)
दूध या गुलाबजल – 2 चम्म्च (या जितना पेस्ट बनाने में लगे)
आधे नींबू का रस (optional)

बनाने का तरीका-

सभी चीजों को एक कटोरी में मिक्स करें और दूध (रूखी स्किन के लिए) या गुलाबजल (ऑयली स्किन के लिए) डालकर पेस्ट बना लें। पेस्ट बनाते समय ध्यान रखें कि पेस्ट गाढ़ा होना चाहिए। अगर आपकी स्किन काफी ड्राई है तो आप इसमें फ्रेश मलाई भी डाल सकते हैं।

इस पेस्ट को बनाते समय आप अपनी जरूरत के हिसाब से इसकी मात्रा में बदलाव कर सकती हैं, जैसे अगर आपको गोरी रंगत चाहिए तो हल्दी की मात्रा ज्यादा लें, चेहरे के बाल निकालने हों तो मसूर दाल पाउडर और बेसन की मात्रा बढ़ा दें। आपकी निखरी त्वचा के लिए ये जादूई फेस मास्क ‘उबटन’ बिल्कुल तैयार हो चुका है।

कैसे लगाएं
तैयार उबटन को चेहरे व गर्दन पर लगाकर सुखने दें। जब ये मास्क पूरी तरह से सूख जाए तो हाथों में दूध या पानी लेकर चेहरे को हल्के हाथों से स्क्रब करें। उसके बाद चेहरा पानी से धो लें ।

चेहरे के बालों की छुट्टी –
इस उबटन को जब आप स्क्रब करके छुड़ाती हैं, तब चेहरे के बाल भी साथ में निकल जाते हैं। इसका नियमित इस्तेमाल करने से चेहरे के बाल धीरे-धीरे पतले और कम होने लगते हैं और कुछ समय बाद बिल्कुल गायब हो जाते हैं। बढ़िया नतीजे के लिए इस मास्क को हफ्ते में दो बार लगाएं।