रेलवे ने शहर के तीनों आरक्षण कार्यालयों पर एजेंटों की धरपकड़ के लिए तैयार किया विशेष प्लान

सादी वर्दी में तैनात रहेंगे जीआरपी के जवान

छुट्टियों का सीजन शुरु ट्रेनों में भीड़ बढऩे लगी

छुट्टियों का सीजन शुरु होते ही ट्रेनों में भीड़ बढऩे लगी है। हालांकि अभी स्थिति ठीक-ठाक है, परंतु फिर भी घूमने जाने वाले लोग टिकट के लिए अलसुबह से ही रिजर्वेशन कार्यालय पर पहुंच रहे हैं। वहीं कई बार लंबे इंतजार के लिए बाद भी लोगों को टिकट नहीं मिल पा रहा है।

इसका फायदा रेलवे एजेंट जमकर उठाते हंै। इसी को ध्यान में रखते हुए रेलवे द्वारा शहर के तीनों आरक्षण कार्यालयों पर एजेंटों की धरपकड़ के लिए विशेष प्लान तैयार किया गया है। जिसके तहत सादी वर्दी में जीआरपी के जवान तैनात रहेंगे। साथ ही यदि कोई यात्री किसी एजेंट के बारे में शिकायत करता है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

कई बार देखा गया है कि जब यात्रियों को लंबी दूरी की ट्रेनों में टिकट नहीं मिलता है तो वह एजेंटों का सहारा लेते हैं, परंतु छुट्टियों का सीजन शुरु होने से पहले रेलवे अधिकारी बार-बार सचेत करते हैं कि वे एजेंटों के चक्कर में न पड़े और रिजर्वेशन कार्यालय से ही टिकट बनवाए, परंतु कई बार यात्री एजेंटों के झांसे में आ जाते हैं और गलत टिकट बनवा बैठते हंै। अब छुट्टियों के लगते ही ट्रेनों में दोबारा भीड़ होना शुरु हो गई है क्योंकि लोग बाहर घुमने जाते हंै।

इसी को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने एजेंटों की धरपकड़ के लिए एक प्लान तैयार किया जिसके तहत विजयनगर, राजेंद्रनगर और मुख्य आरक्षण कार्यालय पर सादी वर्दी में महिला व पुरुषकर्मी तैनात रहेंगे और शिकायत मिलने पर तत्काल कार्रवाई करेंगे। साथ ही रिजर्वेशन ऑफिस में बैठने वाले सभी कर्मचारियों और अधिकारियों को भी कह दिया है कि वे किसी भी एजेंटों के प्रलोभन में न आए।

अगर उनके खिलाफ भी शिकायत पाई जाती है तो कार्रवाई की जाएगी। जानकारी देते हुए रेलवे पीआरओ जितेंद्र कुमार जयंत ने बताया कि सभी पुलिसकर्मियों को सचेत कर दिया है कि शिकायत मिलने पर तत्काल कार्रवाई करें, परंतु अभी तक इस प्रकार की एक भी शिकायत नहीं मिली है।

पिछले दो सालों से कम ही एजेंटों पर कार्रवाई हो पा रही है, क्योंकि मुख्य रिजर्वेशन कार्यालय पर जिस प्रकार टोकन मशीन लगी है उससे एक बार में एक ही व्यक्ति को टिकट मिलता है, परंतु विजय नगर और राजेंद्र नगर रेलवे स्टेशन पर यह सुविधा उपलब्ध नहीं है जिसका एजेंट फायदा उठाएंगे।