लगातार पांचवीं बार जवानों के साथ दिवाली मनाएंगे PM मोदी

हर बार की तरह इस बार भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरहद पर जवानों के साथ दिवाली मनाएंगे. फिलहाल, पीएम मोदी के इस कार्यक्रम को टॉप सीक्रेट रखा गया है.सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस बार पीएम मोदी उत्तराखंड में चीन से लगने वाली सरहद पर सेना और आईटीबीपी के जवानों के साथ दीवाली मनाएंगे. इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी अपने ड्रीम प्रोजेक्ट केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा लेने के लिए कपाट बंद होने के मौके पर दिवाली के दिन 7 नवंबर को वहां जाएंगे.

प्रधानमंत्री 7 नवंबर की सुबह दिल्ली से वायुसेना के खास विमान से देहरादून पहुंचेंगे. देहरादून से एमआई 17 हेलीकॉप्टर से केदारनाथ और सरहद पर जाएंगे. पीएम मोदी सरहद पर सेना और आईटीबीपी के जवानों के साथ चाय नाश्ता करेंगे.

पीएम मोदी का दिवाली का कार्यक्रम 2 घंटे का ही होगा. ऐसा पहली बार नहीं है जब मोदी दिवाली के मौके पर सेना के साथ दीवाली मनाएंगे. मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद अपनी चार दीवाली सेना के जवानों के साथ सरहद पर मना चुके हैं.

साथ ही प्रधानमंत्री मोदी केदारनाथ में पुनर्निर्माण की कई परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे. इसमें मंदिर तक जाने वाला रास्ता, मंदाकिनी नदी पर बने घाट और पुरोहितों के लिए घर शामिल हैं. इसके साथ ही प्रधानमंत्री केदारनाथ मंदिर के पास शंकराचार्य की महत्वाकांक्षी समाधि का भी शिलान्यास रखेंगे. पीएम के इस दौरे से कपाट खुलने से पहले वहां चल रहे निर्माण कार्य में तेजी आने की उम्मीद है.

पीएम मोदी की तर्ज पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण इस बार दिवाली अरुणाचल की दिबांग घाटी में चीन से लगने वाली सरहद पर सेना के जवानों के साथ मनाएंगी. रक्षा मंत्री के साथ सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत भी दिवाली कर मौके पर सरहद पर जवानों के चाय और नाश्ता करेंगे.