लुटेरी दुल्हन सहित चार आरोपी रिमांड पर

 उज्जैन:अविवाहित युवकों को शादी के जाल में फंसाकर रुपये ऐंठने वाले गिरोह को चिमनगंज पुलिस ने दबोचा है। कुल 4 लोग पुलिस गिरफ्त में आये जिन्हें कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें 2 दिन की रिमाण्ड पर पुलिस के सुपुर्द किया गया है।
एसआई कमलेश गौड़ ने बताया कि बडऩगर में रहने वाले ईंट भट्टा संचालक दिनेश प्रजापत के साथ एक युवती ने सितंबर माह में कोर्ट और चिंतामण गणेश पर पहुंचकर शादी रचाई थी। खास बात यह कि युवती ने अपने मामा-मामी सहित फर्जी रिश्तेदारों और फर्जी कागजात कोर्ट में पेश किये और शादी के बदले दिनेश से 80 हजार रुपये ऐंठे गये थे। शादी करने वाले सीमा उर्फ दुर्गा निवासी प्रतापगढ़ राजस्थान दूसरे दिन दिनेश के घर से गायब हो गई थी जिसकी शिकायत चिमनगंज थाने में दर्ज कराई गई।

पुलिस जांच कर रही थी उसी दौरान जानकारी लगी कि लड़की के फर्जी मामा राकेश पिता कपूरचंद निवासी देवासनाका इंदौर को राऊ पुलिस ने फर्जी आधार कार्ड बनवाने के मामले में गिरफ्तार किया है। पुलिस टीम राऊ पहुंची और यहां राकेश से पूछताछ की। उसने सीमा सहित फर्जी मामी सारिका निवासी अकोला महाराष्ट्र सहित फर्जी शादी में शामिल अन्य आरोपियों की जानकारी पुलिस के सामने उगल दी जिसके बाद पुलिस ने सीमा, सारिका, राकेश सहित 4 लोगों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें दो दिन की रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया।

इंदौर में बनी थी गैंग
एसआई गौड़ के अनुसार सभी आरोपी अलग-अलग राज्य व शहरों के रहने वाले हैं लेकिन इंदौर में किराये के मकान बदल बदल कर रहते हैं। यही पर गैंग तैयार हुई और लोगों को शादी के नाम पर ठगने का गोरखधंधा शुरू हुआ। कितने लोगों के साथ ठगी हुई इसकी पूछताछ की जा रही है।