लोकसभा चुनाव : भाजपा में टिकट को लेकर घमासान जारी, इंदौर का फैसला अब भागवत और मोदी मिलकर करेंगे

उम्मीदवारी तय को लेकर समर्थकों ने भी ठोक दिए ढोल

भाजपा में लोकसभा चुनाव टिकट को लेकर घमासान जारी है। ताई के इंकार के बाद भाजपा में कई उम्मीदवार सामने आए हैं। बुधवार को दिनभर के सोशल मीडिया पर राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का टिकट तय होने की खबरे चली तो समर्थकों में ऐसा जोश आया कि बिना कंफर्म किये ही ढोल नगाड़े भी बजा दिये गये, लेकिन इंदौर लोकसभा का फैसला अब संघ प्रमुख मोहन भागवत व नरेन्द्र मोदी ही मिलकर करेंगे, जिसमें ताई की रजा मंदी ली जाएगी।

लोकसभा चुनाव नजदीक आते जा रहे हें, लेकिन भाजपा और कांग्रेस दोनों में ही उम्मीदवारी फैसला नहीं हो पाया है। 8 बार की अजेय योद्धा सुमित्रा महाजन के चुनाव न लडऩे की मंशा जाहिर करने का जैसे ही पत्र संगठन को सौंपा गया, वैसे ही दावेदारों की कतार लग गई। महाजन के कारण अभी तक उम्मीदवार सामने नहीं आ रहे थे, लेकिन उनके मैदान से हटने की बात पर ही दावेदारों की कतार लग गई।

जबकि अभी तक दिल्ली में हाई कमान स्तर पर इस मामले में फैसला नहीं किया गया है। बताया जाता है कि अवंती मुहर संघ प्रमुख मोहन भागवत व नरेन्द्र मोदी ही लगाएंगे। वहीं बुधवार को सुबह से ही सोशल मीडिया पर कैलाश विजयवर्गीय के टिकट तय होने की खबर वायरल हुई तो उनके समर्थकों की बांछे खिल गई। कई जगह समर्थकों ने ढोल भी बजा दिये। जबकि कैलाश विजयवर्गीय इन दिनों बंगाल के दौरे पर है।

बंगाल की चुनावी जंग में मैदान संभाले हुए हैं। सुमित्रा महाजन ने भले ही अभी इंकार किया हो, लेकिन संगठन में उनके पत्र पर न तो चर्चा की है और न ही फैसला सुनाया है। इस कारण से ताई अभी भी चुनावी दौड़ से बाहर नहीं हुई है। ताई का टिकट काटने से पहले ही दिग्गज भी उनसे चर्चा करेंगे। ताई जिस नाम पर मुहर लगाएंगी उसी पर फैसला होना बताया जा रहा है। ताई के बाद कैलाश विजयवर्गीय, मालिनी गौड़, गोपी नेमा, भंवरसिंह शेखावत, रमेश मेंदोला, सुदर्शन गुप्ता भी टिकट की कतार पर है।

कांग्रेस में भी टिकट को लेकर इंतजार सिंधिया को लेकर संस्पेंस बरकरार

भाजपा में जैसे ही ताई चुनावी दौड़ से बाहर हुई तो कई कांग्रेस के दावेदारों की बांछे खिल गई, क्योंकि ताई का एक निजी वोट बैक के साथ-साथ सामाजिक वोट बैंक भी है, जो चुनावी परिणाम को काफी प्रभावित करता है। इसके कारण कांग्रेस के दावेदार काफी दमदारी टिकट मांग रहे हैं। कांग्रेस के स्टार प्रचारक व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की उम्मीदवारी को लेकर भी पार्टी गंभीरता से विचार कर रही है।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह को भोपाल में मैदान में उतारा है, इसी तरह इंदौर में भी सिंधिया की उम्मीदवारी पर संगठन विचार कर रहा है। सिंधिया के बाद पंकज संघवी जीतू पटवारी सत्तू पटेल, स्वनिल कोठारी के साथ ही अन्य भी दौड़ में बने हुए हैं। हालांकि सिंधिया को लेकर अभी सस्पेंस बरकरार है, लेकिन उनकी गुना से भी उम्मीदवारी तय नहीं हुई है। इस मामले में कमलनाथ चाह रहे हैं कि सिंधिया इंदौर से चुनाव लड़े ,इसी कारण कांग्रेस भी अब भाजपा उम्मीदवार घोषित होने के इंतजार में है।