वास्तु टिप्स जिनसे आप के घर में आपसी संबंध मधुर रहेंगे.

किन्तु कई बार छोटी-छोटी गलतफहमियां बड़े झगड़े का कारण बन जाती हैं. लेकिन कई बार तो आपके घर का वास्‍तु आपके झगड़ों का कारण होता है.सभी चाहते है कि लाइफपार्टनर और अन्‍य सदस्‍यों से उसके संबंध हमेशा मधुर बने रहें.

इसलिए आपका बेडरूम नैऋत्य कोण दिशा में होना चाहिये. इस क्षेत्र में निवास करने वाला व्यक्ति पूरे घर पर शासन करता है. जीवन साथी के चाह करने वाले एंव दाम्‍पत्‍य जीवन को मधुर बनाने वाले स्त्री-पुरूष निम्न उपायों द्वारा इस क्षेत्र को गतिशील बना सकते है.

घर के बेडरूम को लाल या गुलाबी रंग से पेन्ट करके, इस क्षेत्र को सक्रिय किया जा सकता है.
बेडरूम में प्रकाश की मात्रा बढ़ाकर सकारात्मक उर्जा को बढ़ाया जा सकता है, जिससे आपके सम्बन्ध मधुर और प्रगाढ़ हो जायेंगे.
जिन जातकों का विवाह नहीं हो रहा है, वह लोग इस हिस्से में रात्रि के समय 2 मोमबत्तियां जलायें, जिससे उनको शीघ्र ही जीवन साथी की प्राप्ति हो जायेगी.

परिवार क्षेत्र- , तत्व-लकड़ी.

पूर्व क्षेत्र का संबंध परिवार के लोगों से व परिवार के निकट सम्बन्धियों से होता है. इस क्षेत्र के सक्रिय होने से रिश्तों में मजबूती आ जाती है.
घर के पूर्वी हिस्से में गुलाबी व पीले रंग के प्रकाश की मात्रा बढ़ायें.
परिवार के लोगों के फोटो व उपहार आदि इस क्षेत्र में लगाना लाभदायक रहता है.
इस क्षेत्र में पौधे लगाना भी हितकारी रहेगा.
इस क्षेत्र का सम्बन्ध स्वास्थ्य से भी है. यदि परिवार में कोई लम्बे समय से बीमार रहता है. तो मछली युक्त तालाब, नदीं, झील और झरने आदि दर्शाने वाले चित्र लगानें से रोगी को शीघ्र ही लाभ होने लगता है.

घर की पश्चिम दिशा का क्षेत्र सन्तान से समबन्धित माना जाता है. साथ ही यह क्षेत्र रचनात्मक और सृजनात्मक कार्यो से भी सम्बन्धित होता है. यह क्षेत्र सभी प्रकार की वस्तुयें सजाने के लिए भी उत्तम होता है. इस क्षेत्र को सक्रिय करने के लिए निम्न प्रकार के उपाय है.
इस क्षेत्र में बच्चों की तस्वीरें लगाने एंव बच्चों की पहनने वाली वस्तुयें रखने से यह क्षेत्र गतिशील हो जाता है.
इस क्षेत्र में क्रिस्टल बाल रखने से भी, यह स्थान सक्रिय होकर शुभ फल देने लगता है.