विक्रम विवि : कार्यपरिषद की बैठक में महिला सदस्य ने उठाया मामला

उज्जैन।विक्रम विवि के प्रोफेसर उमेशकुमार सिंह के मामले में होने वाली शिकायत के बाद कुलपति डॉ. बालकृष्ण शर्मा ने जांच समिति गठित कर दी है। दावा किया गया है कि समिति जल्द ही मामले की जांच कर रिपोर्ट सौंपेगी। कल विवि में कार्य परिषद की बैठक थी और इसमें महिला सदस्य उषा जाटवा ने सिंह का मामला उठाया था।
बता दें कि सिंह पर विवि में बतौर अतिथि शिक्षक के रूप में कार्यरत कुछ महिलाओं ने अश्लील बर्ताव करने का आरोप लगाया था। कार्यपरिषद सदस्य उषा जाटवा ने अक्षरविश्व को बताया कि वह चाहती थी कि परिषद की बैठक में सबसे पहले इसी मामले में चर्चा होकर निर्णय लिया जाए, लेकिन कुलपति शर्मा ने यह बताया कि जांच समिति का गठन कर दिया गया है, लिहाजा उन्होंने यह जरूर कहा कि किसी के साथ अन्याय न हो। उन्होंने अपनी तरफ से भी कुलपति, कुलसचिव को पत्र लिखे है।

इधर विवि के कुलानुशासक
डॉ. शैलेन्द्रकुमार शर्मा ने बताया कि परिषद की बैठक में बजट का अनुमोदन किया गया। इसमें विकास कार्यों के लिए राशि का प्रावधान किया गया है। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष २०२०-२१ में महाराजा जीवाजीराव पुस्तकालय के विद्यार्थियों एवं शोधार्थियों की आवश्यकतानुरूप नवीनतम संस्करण की पुस्तकों एवं संदंर्भ ग्रंथों से संपन्न करने तथा ई-लायब्रेरी के रूप में विकसित करने के लिए ७५ लाख रुपए का प्रवधान बजट में किया गया है। इसी तरह इसी वित्तीय वर्ष में स्व-वित्तीय पाठ्यक्रमों की श्रृंखला में पूर्व प्रस्तावित पाठ्यक्रम आरंभ करने का भी निर्णय लिया गया। इनमें बीएएलएलबी ऑनर्स पांच वर्षीय पाठ्यक्रम, डिग्री इन वोकेशनल कोर्सेस, दूरस्थ शिक्षा केन्द्र तथा एमए भूगोल पाठ्यक्रम शामिल है।