विश्वविद्यालयों में अनिवार्य होगी इंटर्नशिप

रोजगार व व्यापार कौशल (Business Skill) की जानकारी देने के लिए गर्मियों की छुट्टियों में इंटर्नशिप अनिवार्य होगी। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने देशभर के विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षण संस्थानों को पत्र लिखकर स्नातक और स्नातकोत्तर प्रोग्राम (UG and PG) के छात्रों को इंटर्नशिप से जोड़ने को कहा है।

यूजीसी ने ऐसी 15 बहुराष्ट्रीय कंपनियों (MNCs – Multi National Companies) के नाम भी भेजे हैं, जो इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट कॉलेजों के विद्यार्थियों को अनिवार्य इंटर्नशिप मुहैया करा रही हैं।

यूजीसी प्रबंधन की ओर से कुलपतियों को लिखे पत्र में कहा गया है कि अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) ने शैक्षिक सत्र 2019-20 से बीटेक प्रोग्राम के दूसरे, तीसरे, चौथे वर्ष के छात्रों के लिए गर्मियों में अनिवार्य इंटर्नशिप शुरू कर दी है।

इसके लिए एआईसीटीई और कंपनियों के बीच करार हुआ है। इन्हीं कंपनियों की सूची आयोग ने भी विश्वविद्यालयों के साथ साझा की है। ताकि छात्र छुटिट्टयों में घूमने-फिरने की बजाय इंटर्नशिप में रोजगार से जुड़ने का प्रशिक्षण ले सकें।

वेतन संग क्रेडिट स्कोर जुड़ेंगे

आयोग विश्वविद्यालयों में 2020 से इंटर्नशिप अनिवार्य करने जा रहा है। इसलिए विश्वविद्यालयों को विद्यार्थियों को इंटर्नशिप के बारे में जागरूक करने की जिम्मेदारी देने के साथ उन्हें इंटर्नशिप मुहैया कराने वाली कंपनियों की सूची साझा की गई है।

विद्यार्थियों को इंटर्नशिप के दौरान वेतन / स्टाइपेंड (Stipend) भी मिलेगा। इसके अलावा क्रेडिट स्कोर भी जुड़ेगा। इंटर्नशिप समाप्त होने पर उन्हें सर्टिफिकेट भी जारी किया जाएगा। इंटर्नशिप से छात्रों को डिग्री प्रोग्राम की पढ़ाई समाप्त होने पर सीधे नौकरी मिलने की सुविधा का लाभ मिल सकेगा।