शरद यादव की आपत्तिजनक टिप्पणी पर वसुंधरा राजे ने कहा- चुनाव आयोग को एक्शन लेना चाहिए

जयपुर. पूर्व केंद्रीय मंत्री और जेडीयू के पूर्व नेता शरद यादव की आपत्तिजनक टिप्पणी पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने नाराजगी जताई है। राजे ने झालरापाटन में शुक्रवार को वोट डालने के बाद कहा कि मैं हैरान हूं कि कोई वरिष्ठ नेता ऐसा बयान दे सकता है। भविष्य में ऐसा न हो इसके लिए चुनाव आयोग को उनके बयान पर संज्ञान लेना चाहिए। साथ ही एक्शन लेकर एक उदाहरण पेश करना चाहिए। भाजपा ने गुरुवार को चुनाव आयोग से इसकी शिकायत भी की।
राजे ने कहा, “मैं नहीं समझता हूं कि कोई भी नेता। वरिष्ठ नेता ऐसा बयान दे सकता है और जिनके हमारे परिवार से अच्छे संबंध थे। खासकर राजमाता साहब के साथ। ऐसे व्यक्ति अपनी वाणी पर संयम नहीं रख पाए। उससे बुरा क्या हो सकता है। हम नहीं चाहते है कि हमारे यंगस्टर्स को खराब मैसेज जाए। ऐसी भाषा कांग्रेस और उनके सहयोगियों के मुंह से सुनी जा सकती है।”

पूर्व केंद्रीय मंत्री और जेडीयू के पूर्व नेता शरद यादव ने बुधवार को राजस्थान के दौसा जिले के मुंडावर में कहा था कि वसुंधरा बहुत थक गई हैं। उन्हें आराम देना चाहिए। वे बहुत मोटी हो गई हैं। पहले पतली थीं।

राज्य वित्त आयोग की अध्यक्ष रही डॉ. ज्योति किरण ने कहा है कि राजे पर यादव की टिप्पणी घोर आपत्तिजनक है। उन्होंने राजस्थान की महिलाओं का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि यादव को इसके लिए माफी मांगनी होगी। राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा ने कहा कि कांग्रेस की अलाइंस पार्टी राजस्थान में आकर महिलाओं का अपमान करती है।