शहर की प्रतिभा :श्रीमती अर्चना

तिवारीनगर के सुविख्यात धु्रपद गायक स्व. रामचंद्र आपटे के परिवार में जन्मी श्रीमती अर्चना तिवारी को संगीत के संस्कार विरासत में प्राप्त हुए है। सुयोग्य गुरुजनों के सानिध्य में नियमित रियाज कर आपने संगीत की क्लिष्टम विशेषताओं की उच्च शिक्षा ग्रहण की। संस्कृत एवं कंठ संगीत में एमए तथा खैरागढ़ से एमम्यूज की उपाधि उच्चश्रेणी के साथ ग्रहण की। श्रीमती तिवारी की खनकदार आवाज, भजन, स्त्रोत, सूफी आदि आध्यात्मिक एवं भावप्रधान गीत प्रकारों के लिए उच्चारण इनके गायन की विशेषता है। ये हिन्दी, मराठी, गुजराती, मालवी, राजस्थानी, निमाड़ी आदि विभिन्न भाषाओं में पूर्ण दक्षता के साथ गाने की क्षमता रखती है। उक्त विशेषताओं के कारण ही आपकी गणना प्रदेश की श्रेष्ठ भजन गायिकाओं में की जाती है। अपनी सधी हुई मधुर गायकी का प्रशंसनीय प्रदर्शन आप देश के अनेक प्रतिष्ठित संगीत समारोह में करती आ रही है।