संत रविदास ने उपेक्षित वर्ग को मुख्यधारा से जोड़ा

उज्जैन:संत श्री रविदासजी महाराज ने रविदास समाज सहित उपेक्षित वर्गों को राष्ट्र की मुख्यधारा से जोड़ा था। अभावों, पक्षपातपूर्ण वातावरण के बीच संघर्ष करते हुए उन्हें सर्वधर्म एवं सर्व समाज सद्भाव की भावना का निर्माण किया और आज उनके अनुयायी विश्वभर में करोड़ों की संख्या में हैं। ये ही संतश्री के सिद्धांतों की विजय है।
यह बात सर्व रविदास समाज द्वारा सामाजिक न्याय परिसर में शनिवार को आयोजित सम्मान समारोह में नवनिर्वाचित सांसद अनिल फिरोजिया ने कही। संत शिरोमणि श्री अहिरवार रविदास समाज महासंघ के अध्यक्ष कमलकांत राजोरिया के अनुसार विशेष अतिथि जिला पंचायत के उपाध्यक्ष डॉ. मदनलाल चौहान थे। समाजजनों ने नवनिर्वाचित सांसद फिरोजिया को संत रविदास महाराज के चित्र युक्त स्मृति चिह्न भेंटकर एवं मालवी साफा पहनाकर उनका अभिनंदन किया। साथ ही मंडल अभिभाषक संघ के नवनिर्वाचित कार्यकारिणी सदस्य एडवाकेट धर्मेंद्र वाघेला को भी सम्मानित किया।

स्वागत भाषण सुरेश कसुमरिया ने दिया। अतिथि स्वागत ओमप्रकाश मोहने, ओमप्रकाश चौहान, रमेश परमार ने किया। प्रख्यात भजन गायक बाबूलाल रांगोटा ने भजनों की प्रस्तुति दी। कसंचालन कमलकांत राजोरिया ने किया। आभार विक्रम परमार ने माना। इस अवसर पर विनोद चौहान, सुनील राजोरिया, गोरधन परिहार, रमेश कलेशरिया, प्रकाश जटिया, रामचंद्र अहिरवार, मुकेश सोनगरा, दिलीप गांगोलिया, अंकित मोहने, नंदराम परिहार आदि उपस्थित रहे।