संस्कृति की सुरक्षा के लिए शब्द ज्ञान सुरक्षित रखना होगा

शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय में स्वामी विवेकानंद की जयंती पर सामूहिक सूर्य नमस्कार का आयोजन किया गया। इस अवसर पर व्यक्तित्व विकास प्रकोष्ठ द्वारा डॉ. हरिओम त्रिपाठी प्राचार्य जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान ने भारत की सांस्कृतिक विरासत पर व्याख्यान दिया।
उन्होंने कहा हमारी भौतिक उन्नति सभ्यता है और हमारी आध्यात्मिक उन्नति संस्कृति है। संस्कृति की सुरक्षा के लिए शब्द ज्ञान सुरक्षित रखना होगा। कार्यक्रम को डॉ. वंदना त्रिपाठी ने कहा हमने जो अपनी पीढ़ी को दिया है वही हमें प्राप्त होगा। अध्यक्षीय उद्बोधन में प्राचार्य डॉ. उल्का यादव ने कहा स्वामी विवेकानंद ने व्यक्तित्व विकास की जो अलख जगाई है उसे और आगे ले जाना है। जानकारी डॉ. सीमा शर्मा व संभागीय समन्वयक डॉ. सरोज करारे ने दी। संचालन डॉ. अर्चना मेहरा ने किया। आभार डॉ. निखत परवीन ने माना।