सच्ची श्रद्धा की अनोखी कहानी महासती मैना सुंदरी

महानाट्य की अनुपम प्रस्तुति आज कालिदास अकादमी में

भगवान महावीर स्वामी के जन्म कल्याण को महोत्सव के रूप में मनाते हुए दिगंबर जैन सोशल ग्रुप ‘सम्यक द्वारा महानाट्य ‘महासती मैना सुंदरीÓ का आयोजन बुधवार को शाम 7 बजे कालिदास अकादमी के मुक्ताकाशी मंच पर किया जाएगा।

अध्यक्ष पंकज जैन ने बताया नई युवा पीढ़ी को धर्म और संस्कारों से जोड़े रखने के लिये डिजिटल लाइट, साउंड के साथ प्रस्तुति दी जाएगी। जिसकी परिकल्पना विक्रांत जैन, सिद्धप्रकाश झांझरी, अकलंक जैन ने की है। संयोजक ललित बडज़ात्या, अभिषेक राणा, अजीत जैन, जितेंद्र जैन और अनिल जैन होंगे।

कलश स्थापना स्नेहलता सोगानी करेंगी। अतिथि अंतर्राष्ट्रीय दिगम्बर जैन फेडरेशन के अध्यक्ष राजेश लारेल, हंसमुख गांधी, राकेश विनायका, संतोष जैन होंगे। श्रीपाल चरित्र आधारित मैना सुंदरी की अद्भुत कथा अपने आप में अनूठी है।

कुल मिलाकर मैना सुंदरी नाटक अहंकार, कर्तव्य और सच्ची श्रद्धा की अनोखी कहानी है। कहानी जितनी सधी हुई है उतना ही कलाकारों का सशक्त अभिनय भी दर्शकों को प्रभावित करेगा। करीब ७५ से अधिक कलाकार २ माह से अथक मेहनत कर रहे हैं। बेहतरीन ध्वनि और प्रकाश का संगम व विशाल एलईडी स्क्रीन महानाट्य को विशेष दर्शनीय बनाती है।