सफलता प्राप्त करने की कुंजी क्या है, जानें

एक युवक ने बहुत मेहनत व लगन से एक बिजनेस की शुरुआत की। लेकिन पांच-छह महीने बाद ही किसी घाटे की वजह से उसे बिजनेस बंद करना पड़ा। इसके बाद वह उदास रहने लगा। काफी समय बीतने के बाद भी उसने कोई और काम शुरू नहीं किया।

इस बात का पता उस युवक के एक शिक्षक को लगा। उन्होंने युवक को अपने घर पर बुलाया। उन्होंने युवक से कहा कि- जिंदगी में यह सब होता रहता है, इसमें इतना मायूस होने की क्या बात है। युवक ने बताया कि उसने बिजनेस के लिए कड़ी मेहनत की थी, फिर वह विफल कैसे हो सकता है।

इस पर शिक्षक ने उसे बगीचे में लेजाकर टमाटर का सूखा पौधा दिखाया। फिर उन्होंने कहा कि, इस पौधे को खाद, पानी सब कुछ दिया, लेकिन फिर वह सूख गया। फिर शिक्षक ने कहा कि- चाहे तुम कितने भी प्रयास करो, अंत में क्या होगा, वह तुम तय नहीं कर सकते।

युवक बोला- फिर प्रयास करने से क्या फायदा।
इसके बाद शिक्षक उसे एक कमरे में लेकर गए। युवक ने देखा कि वहां टमाटरों का ढेर लगा था। शिक्षक ने कहा कि टमाटर के सारे पौधे नहीं मरे थे। उन्होंने युवक को समझाया कि अगर तुम लगातार सही चीजें करते रहोगे, प्रयासरत रहोगे तो तुम्हारे लिए सफलता के अवसर भी बढ़ जाएंगे और तुम सफल जरूर हो जाओगे।

कहानी से सीख- सफलता की कुंजी ये है कि आप कभी भी प्रयास करना ना छोड़ें।