सर्दियों में क्यों लाल पड़ जाते हैं हाथ-पांव कैसे रखा जाए खुद को सुरक्षित?

सर्दियों में सर्दी-जुकाम के अलावा Skin Rashes की समस्या भी लोगों में आम देखने को मिलती है। सर्दियों की हवाओं कम होती नमी के कारण यह प्रॉबल्म देखने को मिलती है। चलिए आज जानते हैं Skin Rashes होने के पीछे छिपे कारण, इसकी निशानियां और बचाव के तरीके…

स्किन रैशेज की निशानियां

-लालिमा
-सूजन
-खारिश
-उखड़ती त्वचा
-सेंसिटिविटी
-बंपस यानि धब्बे
-Blister यानि मच्छर काटने जैसे निशान

त्वचा पर होने वाले ये सब बदलाव हो सकता है किसी एक हिस्से पर हों, या फिर आपकी पूरी बॉडी इनसे घर सकती है।

Winter Rash होने के कारण- सर्दियों की हवाओं में नमी की मात्रा काफी कम हो जाती है। ऐसे में त्वचा अपने नेचुरल ऑयल और नमी भी खो देती है। जिन महिलाओं की त्वचा ज्यादा सॉफ्ट या सेंसिटिव होती है, उन्हें स्किन रैशेज का सामना ज्यादा करना पड़ता है। ज्यादा गर्म पानी से नहाने वाले लोग भी इस समस्या का शिकार हो जाते हैं।

Winter Rash से बचने के घरेलू उपाय

स्किन रैशेज से बचने के उपाय ज्यादातर काफी महंगे होते हैं। मगर आप चाहें तो बहुत ही आसान और सस्ते घरेलू उपायों के साथ त्वचा की इस समस्या से छुटकारा पा सकती हैं। आइए जानते हैं कैसे…

मॉइस्चराइजर- त्वचा को रुखा होने से बचाने के लिए दिन में 3 से 4 बार मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करें। ऐसा करने से आपकी स्किन का pH लेवल बरकरार रहेगा और सर्द हवाओं में मौजूद नमी की कमी आपकी त्वचा को नुकसान नहीं पहुंचा पाएगी। नहाने से तुरंत बाद पूरी बॉडी को हररोज मॉइस्चराइज करना न भूलें

त्वचा की नमी बरकरार रखने के लिए आप पैट्रोलियम जैली, ऑलिव ऑयल, नारियल का तेल और वैसलीन बॉडी लोशन इस्तेमाल कर सकती हैं। इन सब चीजों में नेचुरल ऑयल मौजूद होते हैं, जो आपकी त्वचा को रुखा होने से बचाते हैं, साथ ही इसे सॉफ्ट एंड शाइनी बनाए रखने में भी मदद करते हैं।

दूध से नहाना- अगर आप चाहती हैं कि आपकी त्वचा कभी ड्राई न हो तो ऐसे में हफ्ते में एक बार कच्चे दूध से स्नान जरुर करें। आप चाहें तो 2 से 3 चम्मच बेसन में कच्चा दूध मिलाकर एक घोल तैयार करें। साबुन की बजाए आप इस घोल के साथ हफ्ते में एक से दो बार बॉडी क्लीन करें।

ओटमील साबुन- त्वचा की ड्राइनेस से बचने के लिए ओटमीन साबुन भी काफी फायदेमंद है। ओटमील बॉडी को सॉफ्ट बनाने के साथ-साथ डेड स्किन को भी हटाने में मदद करता है। जिससे आपको स्किन रैशेज और ड्राईनेस की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता।