स्वच्छता दिखावे की, महिलाएं भी असुरक्षित

गलियों में गंदगी भरी पड़ी, बदबू मार रहे शौचालय, जय उज्जैन की टीम ने किया भ्रमण
उज्जैन। स्वच्छता में उज्जैन नंबर वन बने यह हर शहरवासी का सपना है लेकिन नगर निगम के अधूरे प्रयास हर कदम पर इस अभियान की पोल खोल रहे हैं। साथ ही महिलाओं की सुरक्षा पर भी कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जय उज्जैन की टीम जब शहर में स्वच्छता के हालात जानने निकली तो दो किलोमीटर के क्षेत्र में ही दसों ऐसे स्थान दिखे जहां शौचालय दिखावे के हैं। रविवार को जय उज्जैन कार्यक्रम के तीसरे चरण में मप्र कांग्रेस कमेटी सचिव चेतन यादव के नेतृत्व में जय उज्जैन की टीम ने देवासगेट और रेलवे स्टेशन क्षेत्र में माधव कॉलेज से लगे हुए दो छोटे-छोटे महिला-पुरुष के टॉयलेट बने हैं जो गंदगी से सराबोर थे। पानी का प्रबंध भी नहीं था। यहां ऑटो-मैजिक स्टैंड है जहां धूप बारिश से बचाव के लिए कोई शेड भी नहीं है। अन्य जगह भी यही स्थितियां निर्मित हैं। इस मौके पर श्रवण शर्मा, जितेन्द्र तिलकर,ओम भारद्वाज, आनंद बागोरिया, राकेश गिरजे, नीलेश राठौर, कमल चौहान, बंटी चौरसिया, अशोक उदयवाल, विकास कपूर, सावन यादव, अजय यादव आदि मौजूद थे।