हत्या की गुत्थी प्रेम प्रसंग पर उलझी पुलिस ने दोस्तों को लिया हिरासत में

उज्जैन। सोमवार को ग्राम बदरखा में खून से सनी लाश पुलिस ने बरामद की थी। कल पुलिस शव की शिनाख्त नहीं होने पर उसके अंतिम संस्कार की तैयारी कर रही थी उसी दौरान एक वृद्धा अपने पोते को तलाशती हुई अस्पताल पहुंची और शव की शिनाख्त की। पुलिस पहले ही मामला हत्या का मानकर जांच कर रही थी और शव की शिनाख्त के बाद मृतक के दोस्तों को पूछताछ के लिये थाने में बैठाया है।
ग्राम बदरखा से मिले शव की शिनाख्त अभिषेक उर्फ अभि पिता कैलाश मालवीय 18 वर्ष निवासी ब्रज नगर आगर रोड़ के रूप में उसके पिता ने की। पुलिस ने बताया कि अभिषेक पिछले 5 दिनों से घर से लापता था और परिजन उसकी तलाश कर रहे थे। दादी रामकुंवरबाई एमआर 5 स्थित ढाबे पर पूछताछ करने गई तो ढाबा संचालक ने चिमनगंज पुलिस को सूचना दी।

पुलिस रामकुंवरबाई को जिला चिकित्सालय ले गई जहां शव की शिनाख्त कराई गई। परिजनों ने पुलिस को बताया कि 5 दिन पहले अभिषेक अपने दोस्त कालू निवासी नजरपुर के साथ आधार कार्ड लेकर घर से निकला था। इस पर पुलिस ने कालू को हिरासत में लिया है। इधर कालू ने बताया कि अभिषेक पहले ढाबे पर काम करता था और 12 मई को अभिषेक कालू से मिला व कहा कि अब देवास में जाकर काम करूंगा, मेरा बैग लगा दे। कालू ने अभिषेक का बैग लगाया और उसे देवास जाने के लिसे बस स्टेण्ड छोडऩे गया था।

दो लड़की व एक युवक कौन
मृतक अभिषेक की शिनाख्ती के पहले जिला अस्पताल के पोस्टमार्टम रूम में दो युवती व एक युवक पहुंचे थे। यहां अभिषेक का शव देखने के बाद तीनों मुंह छुपाते हुए यहां से चले गये। वह कौन थे इसकी जानकारी किसी को नहीं। पुलिस प्रेम प्रसंग के चक्कर में हत्या का मामला मानकर जांच कर रही है।