हरिहर मिलन होगा, जुलूस निरस्त

उज्जैन:विवादित अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आने के बाद पूरे जिले में शांति और सौहाद्र्र कायम रहा लेकिन पुलिस और प्रशासन के अधिकारी दूसरे दिन भी स्थिति पर नजर बनाये हुए हैं। बैकुंठ चतुर्दशी के अवसर पर रात को होने वाले हरिहर मिलन को लेकर असमंजस की स्थिति निर्मित हुई थी, जिसको लेकर मंदिर प्रशासक का कहना है कि हरिहर मिलन तो होगा लेकिन जुलूस निरस्त कर दिया गया है।
रविवार का दिन होने के कारण स्कूल, कॉलेज, शासकीय कार्यालयों में अवकाश रहने के साथ ही शहर के प्रमुख बाजारों में भी दुकानें बंद रहीं, लेकिन पुलिस प्रशासन के अधिकारी लगातार ड्यूटी करने के साथ ही शहर में भ्रमण कर स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। संवेदनशील इलाकों में राजपत्रित अधिकारियों के साथ पुलिस फोर्स तैनात है। मुस्लिम समाज की ओर से रविवार सुबह निकलने वाले ईद मिलादुन्नबी का जुलूस निरस्त करने का निर्णय लिया गया।

वहीं दूसरी ओर पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति सहित पंडे और पुजारियों की बैठक आयोजित हर बैकुंठ चतुर्दशी के अवसर पर होने वाले हरिहर मिलन कार्यक्रम और जुलूस को लेकर चर्चा की। मंदिर प्रशासक सुजान सिंह रावत ने बताया कि हरिहर मिलन तो होगा लेकिन सार्वजनिक जुलूस निरस्त करने का निर्णय हुआ है। जिले में धारा 144 लागू है जिसके दृष्टिगत जुलूस निकालने की किसी को अनुमति नहीं दी गई है। हालांकि हरिहर मिलन का स्वरूप क्या रहेगा इसको लेकर अधिकारियों द्वारा विचार-विमर्श किया जा रहा है।