हिमाचल में चल रही है जमानती सरकार, अब जनता देगी जमानत:PM मोदी

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (मंगलवार को) हिमाचल प्रदेश दौरे पर हैं. यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिलासपुर में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एम्‍स) की आधारशिला रखी. इस दौरान प्रदेश के राज्‍यपाल आचार्य देवव्रत, केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जेपी नड्डा और मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह भी मौजूद रहे.  750 बिस्तर वाले इस अस्पताल पर करीब 1,350 करोड़ रुपये का खर्च आएगा. यहां स्वास्थ्य सेवा के अलावा नर्सिंग, स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर पर मेडिकल शिक्षा भी मुहैया होगी. इसके अलावा पीएम ने ऊना में आईआईआईटी की भी आधारशिला रखी.

बिलासपुर में एम्स की आधारशिला रखने के बाद पीएम मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि 8 मंजिला सभा पहली बार देखी. पीएम ने यह बात ऊंची पहाड़ियों पर से पीएम की मोदी को देखने वाले लोगों के लिए कही. पीएम ने कहा कि हिमाचल वीरों की भूमि है. पीएम ने कहा कि हिमाचल को मिलने वाला एम्स अस्पताल संजीवनी का काम करेगा. पीएम ने कहा कि हिमाचल में देश-विदेश से पर्यटक आते है. इसलिए एम्स के बनने से ना केवल हिमाचल के लोगों को फायदा मिलेगा बल्कि देशी-विदेशी पर्यटकों को भी फायदा मिलेगा. पीएम ने कहा कि इस अस्पताल के लिए ऐसा कैंपस बनेगा जिसमें 3000 लोग एक साथ काम कर सकेंगे. प्रधानमंत्री ने कहा कि इससे लोगों को रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर वार करते हुए कहा कि हिमाचल में प्रदेश में इन दिनों जमानती सरकार चल रही है. पीएम ने कहा कि हिमाचल में 13 ऐसी परियोजनाएं हैं जिनके लिए केंद्र सरकार 15 हजार करोड़ का निवेश करेगी.

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अपने चुनावी वादे पूरे ना करने का आरोप लगाते हुए उनसे बिलासपुर में मंगलवार को होने वाली भाजपा की रैली में सरकार के कामकाज को लेकर एक श्वेत पत्र जारी करने की मांग की. हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एचपीसीसी) के महासचिव नरेश चौहान ने मोदी की प्रदेश यात्रा से एक दिन पहले उन पर निशाना साधते हुए कहा कि लोग यह जानना चाहते हैं कि सरकार ने पिछले साढ़े तीन साल में क्या काम किया और ‘‘अच्छे दिन’’ कब आएंगे. उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि मोदी पूर्व में दो बार राज्य का दौरा कर चुके हैं लेकिन लोगों को ‘‘झूठे वादों’’ के सिवा कुछ नहीं मिला जबकि रोजगार अवसर घट गए और महंगाई बढ़ी.