हॉट एयर बलून में स्कूली बच्चों ने की सेर

उज्जैन। भारतीय सेना द्वारा दशहरा मैदान पर बच्चों और युवाओं के लिये हॉट ब्लूनिंग का आयोजन किया गया। इसमें भाग लेने के लिये सुबह से कड़ाके की सर्दी के बावजूद सैकड़ों बच्चे यहां पहुंचे और ब्लूनिंग के बाद काफी खुश नजर आये। हॉटर ब्लूनिंग एडवेंचर के लीडर लेफ्टिनेंट कर्नल अहलावत ने बताया कि इस एडवेंचर का उद्देश्य सेना के प्रति युवाओं और बच्चों को प्रोत्साहित करना है।
क्या है हॉट एयर बलून

ले.कर्नल अहलावत के अनुसार हॉट बैलून 1 लाख 30 हजार क्यूबिक फीट का है। इसे प्रोपेन गैस कमर्शियल एलपीजी सिलेण्डर की मदद से उड़ाया जाता है। सिलेण्डर से तेजी से निकलने वाली आग की तेजी से बैलून गर्म होता है। इसे 1 हजार फीट की ऊंचाई तक हवा की दिशा में उड़ाया जा सकता है। दशहरा मैदान में एडवेंचर के लिये बैलून को रस्सियों से बांधकर 100 फीट तक उड़ाया जा रहा है।

सेना का काम सिर्फ बार्डर पर लडऩा ही नहीं : ले.कर्नल अहलावत

दशहरा मैदान पर सुबह सेना द्वारा आयोजित हॉटर ब्लूनिंग में सैकड़ों की संख्या में स्कूली बच्चों सहित अनेक युवा पहुंचे। ब्लूनिंग को लेकर बच्चों में खासा उत्साह था। गैस सिलेण्डर के माध्यम से चलने वाले 1 लाख क्यूबिक के बैलून में करीब 100 फीट से अधिक ऊंचाई की यात्रा का आनंद लेने के बाद बच्चों की खुशी का ठिकाना नहीं था।

इस दौरान पुलिस व प्रशासन के अधिकारी सहित अन्य लोगों ने भी हॉट ब्लूनिंग कर सेना के कार्य की तारीफ की। ले.कर्नल विवेक अहलावत ने हॉट बलून शो के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि इंडियन आर्मी की 30 सदस्यीय टीम वड़ोदरा से भोपाल के लिये रवाना हुई है। इसी कड़ी में उज्जैन में हॉट बलून शो आयोजित किया गया है। सेना का उद्देश्य यूथ को सेना में आने के लिये प्रोत्साहित करना है। टीम कल आष्टा के लिये रवाना होगी। लेफ्टिनेंट कर्नल विवेक अहलावत के साथ टीम में लिफ्टिनेंट विशाल, मेजर निवेदिता, कैप्टन मेघा सहित 30 लोग शामिल हैं।

सैर का खर्च ५ से १० हजार

मेजर निवेदिता ने बताया कि हॉट एयर बैलून एडवेंचर की प्राइवेट सेक्टर में सुविधा देश में संभवत: सिर्फ दो शहरों में है। इसमें एक बार यात्रा का चार्ज 5 हजार रुपये लगता है जबकि 30 मिनट तक यात्रा करने पर 10 हजार रुपये तक चार्ज किया जाता है।

एडवेंचर की कहानी बच्चों की जुबानी

एएसपी सिटी नीरज पाण्डे पुत्र अमन और पुत्री अहाना ने हॉटर ब्लूनिंग के बाद बताया कि बहुत मजा आया। बैलून में बहुत दूर दूर तक का नजारा दिख रहा था। इसी प्रकार निधि और उनके भाई रजत उपाध्याय का कहना था कि पूरे प्रदेश में हॉट ब्लूनिंग की सुविधा नहीं है और सेना ने बच्चों के लिये यह मौका उपलब्ध कराया उसके लिये धन्यवाद।
मम्मी पापा के साथ आकर बलून देखना तथा ऊंचाई तक जाना बहुत अच्छा लगा।
-ऋषिका वत्स

यहां आकर ऐसा लगा जैसे हम सेना के किसी कैंप में आ गए हैं। बलून के नजारे हमे लुभा रहे हैं। बहुत अच्छा लग रहा है।
-अमृता चौहान, एनसीसी कैडेट

एनसीसी कैडेट होने के नाते इस तरह के आर्मी के एडवेंचर जानने का बहुत अच्छा अवसर मिला। मैं यहां आकर बहुत खुश हूं।
-वीपाशा दीक्षित, कैडेट १० एमपी एनसीसी

ऐसे कार्यक्रम की सूचना दो दिन पूर्व हो
दशहरा मैदान कार्यक्रम स्थल पर आए वरिष्ठ पत्रकार एवं नन्ही बालिका ऋषिका वत्स के पिता संदीप वत्स का कहना है कि ऐसे कार्यक्रम की सूचना कम से कम दो दिन पूर्व दी जाना चाहिए। ताकि अधिक से अधिक बच्चे ऐेसे कार्यक्रमों को देखने पहुंचे।
कार्यक्रम में आकर बहुत अच्छा लगा। आज तक ऐसा रोमांचित कर देने वाला आर्मी का एडवेंचर कार्यक्रम नहीं देखा। यह युवाओं को प्रेरित करने वाला कार्यक्रम है।
-निधी मंडलोई, विद्यार्थी एसओएस