200 का नकली नोट देकर पाउच खरीदना पड़ा महंगा

उज्जैन। 200 का नकली नोट पाउच गुटखा की गुमटी संचालक महिला को देकर पाउच खरीदना एक युवक को महंगा पड़ गया। उसे महिला ने सुबह लोगों की मदद से पकड़कर माधव नगर पुलिस के सुपुर्द कर दिया। महिला ने बताया कि उक्त युवक 15 दिनों में 3 बार नकली नोट देकर पाउच खरीद चुका था।
तुलसाबाई पति मुन्नालाल 36 वर्ष निवासी मंगल नगर आगर रोड़ की देवासरोड़ आईजी बंगले के सामने पाउच, सिगरेट की गुमटी है। 15 दिन पहले उसके पास एक युवक एक्टिवा से आया और 200 का नोट देकर 10 रुपये का पाउच खरीदा। महिला नोट की पहचान करना नहीं जानती थी। उसने युवक को पाउच के साथ 190 रुपये लौटा दिये। जब महिला ने 200 का नोट दूसरी जगह चलाया तो उसे पता चला कि यह नोट नकली है, लेकिन वह समझ नहीं पाई के नोट किसने दिया था।

7 दिन बाद वही युवक पुन: एक्टिवा से आया और 200 का नोट देकर पाउच लेने के बाद बाकि रुपये लेकर जाने लगा तब महिला समझ गई कि इसी युवक ने पहले भी नकली नोट दिया था। तुलसाबाई का बेटा उस युवक के पीछे भागा लेकिन तब तक नकली नोट देने वाला युवक एक्टिवा से जा चुका था। आज सुबह तुलसाबाई की गुमटी पर वही युवक अपनी एक्टिवा क्रमांक एमपी 13 ईयू 5286 से पहुंचा और 200 का नकली नोट देकर पाउच मांगा।

तुलसाबाई उसे पहचान गई, उसने 200 के खुल्ले नहीं होने की बात कहकर युवक को रोका और पास स्थित चाय की गुमटी पर गई। यहां खड़े लोगों को उसने बताया कि यही युवक पिछले 15 दिनों से नकली नोट देकर पाउच खरीदता है। लोगों ने उसे घेरा और मोहन प्रजापति पिता रमेशचंद निवासी सेठी नगर ने डायल 100 को फोन पर सूचना दी। माधव नगर पुलिस की टीम यहां पहुंची और बदमाश युवक को हिरासत में लेकर थाने आई।

7 हजार रुपए में सिर्फ एक 500 का असली नोट
माधव नगर पुलिस ने युवक को थाने लाकर पूछताछ की तो उसने अपना नाम टीटू ललावत पिता रामकुमार निवासी किशनपुरा बताया। उसकी चैकिंग में पुलिस ने 500 के तीन, 200 के 6, 100 के 7, 50 के 19 और 10 के 10 नोट कुल 7 हजार रुपये बरामद किए, जिनमें से मात्र 1 नोट 500 का असली था बाकि सारे नोट नकली थे। आरोपी से पुलिस ने एक्टिवा और मोबाइल भी बरामद किया है।

पकड़ाया तो कहने लगा असली ले लो
तुलसाबाई व आसपास के लोगों ने जब बदमाश को पकड़ा तो वह महिला से कहने लगा कि 200 का नकली नोट वापस दे दो और असली नोट ले लो, गलती से नकली नोट दे दिया। जब पुलिस उसे लेने आई तो वह सड़क पर लेटकर नौटंकी करने लगा। थाने नहीं जाने की जिद करके मौके पर ही समझौता कराने की बात भी उसने लोगों से कही।

खुद बेरोजगार, पत्नी पेट्रोल पंप पर काम करती
टीटू ललावत निवासी किशनपुरा को पुलिस ने नकली नोट चलाने के मामले में हिरासत में लिया और रुपये बरामद करने के बाद पूछताछ की तो उसने बताया कि वह स्वयं शुगर का मरीज है और बेरोजगार है। उसकी पत्नी भारती ललावत पेट्रोल पंप पर काम करती है। बच्चों के लिए सामान खरीदने गुमटी पर गया था।

शनिवार को फ्रीगंज में महिला हुई थी ठगी का शिकार
महिला थाने की पूर्व काउंसलर मंजुला खंडेलवाल 64 वर्ष को पुरानी सब्जी मण्डी फ्रीगंज में हैंडलूम के सामने दो युवकों ने ठगी का शिकार बनाया था। दोनों युवकों ने मंजुला खंडेलवाल को चार लाख रुपये के नकली नोट की थैली देकर उनसे दो तोला सोने की चेन, हीरे की अंगूठी, कान के टाप्स, सोने की अंगूठी उतरवा ली और मंदिर के बाहर बैठाकर भाग गये थे, मंजुला खंडेलवाल ने 4 लाख के नोटों की जांच की तो वह नकली निकले थे।