25% लीवर के सहारे जिंदा हैं अमिताभ, 75 की उम्र में भी जमकर मेहनत

एंग्री यंग मैन से लेकर शहंशाह, बिग बी और महानायक बनने तक अमिताभ बच्चन के लगभग 50 साल के करियर में कई बार उनकी हेल्थ ने उनका साथ छोड़ा है. कई  बार ऐसा हुआ है जब अमिताभ अस्पताल में भर्ती हुए और दुनिया भर से फैंस ने उनकी जिंदगी के लिए दुआएं कीं. इस सबसे जूझने के बाद भी आज अगर वह टीवी से लेकर बड़े परदे और सोशल मीडिया तक हर तरफ सक्रिय हैं, तो इसके पीछे आखिर राज क्या है!एक के बाद एक हेल्थ प्रॉबल्म्स का सामना करना किसी के लिए भी आसान नहीं होता. बिग बी के लिए भी नहीं था, मगर उनका पैशन और फैंस की दुआएं ही थीं कि वह आगे बढ़ते गए. ये सिलसिला शुरू हुआ था सन् 1982 में फिल्म कुली की शूटिंग के दौरान. इस फिल्म के लिए शूट करते वक्त अमिताभ को चोट लग गई थी. इसमें उनका काफी खून बह गया था. स्थिति ऐसी थी कि डॉक्टरों ने उन्हें क्लीनिकली डेड घोषित कर दिया गया था. हर तरफ से उनके लिए दुआएं की जा रही थीं. दुआओं का नतीजा भी मिला कि बिग बी फिर अपनी सिनेमाई दुनिया में लौटे….

बताया जाता है कि काफी खून बह जाने के कारण एक्सीडेंट के बाद उन्हें 200 डोनर्स के जरिये 60 बोतल खून चढ़ाया गया था. इससे वह तब के खतरे से बाहर आ गए, मगर उसी दौरान एक और बीमारी ने उन्हें घेर लिया था, जिसका पता 18 साल बाद लगा.एक इंटरव्यू के दौरान खुद बिग बी ने बताया था, ”एक्सीडेंट के दौरान मुझे जिन डोनर्स का खून चढ़ाय़ा गया था, उनमें से एक को हेपेटाइटिस बी था. उसी के जरिये ये मेरे शरीर में प्रवेश कर गया था. सन् 2000 तक मैं ठीक रहा, मगर उसके बाद एक सामान्य मेडिकल चेकअप में सामने आया कि कि मेरा लिवर इंफेक्टिड है.”

आपको जानकर हैरानी होगी कि बिग बी सिर्फ 25 प्रतिशत लिवर के सहारे जिंदा हैं. हेपेटाइटिस इंफेक्शन के कारण उनका 75 प्रतिशत लिवर खराब हो चुका है. सिर्फ इतना ही नहीं इसके बाद उन्हें मांसपेशियों संबंधी एक बीमारी माएस्थेनिया ग्रेविस से भी ग्रस्त बताया गया. इसमें मांसपेशियों का नर्वस सिस्टम से कनेक्शन टूट जाता है. बताया जाता है कि ये बीमारी उन्हें एक्सीडेंट के बाद दवाइयों का अत्यधिक सेवन करने की वजह से हुई. इसकी वजह से वह मानसिक और शारीरिक रूप से कमजोर हो गए. वह डिप्रेशन में चले गए थे. इस बीमारी से उबरकर फिर एक बार उन्होंने साबित किया कि आखिर उन्हें महानायक क्यों कहा जाता है. उन्हें अस्थमा भी है.

कुछ साल पहले उनकी एबडोमिनल सर्जरी भी हुई थी. साल 2005 में उनके पेट में तेज दर्द हुआ. तब अंदाजा लगाया गया कि ये गेस्ट्रो संबंधी समस्या है, लेकिन चेकअप में सामने आया कि उन्हें इंटेस्टाइन संबंधी समस्या है. डॉक्टरों का कहना था कि अगर इस समस्या का समय रहते उपाय न किया जाए, तो ये घातक साबित हो सकती है. इस बीमारी में छोटी और बड़ी आंत कमजोर हो जाती है और उसमें सूजन आ जाती है. बच्चन को इसका ऑपरेशन कराना पड़ा. इसके लिए वह दो महीने अस्पताल में रहे थे..

कुछ समय पहले बॉलीवुड मेगास्टार अमिताभ बच्चन ने ये भी खुलासा किया था कि उन्हें लिवर सिरोसिस की समस्या भी है, जबकि वह शराब का सेवन नहीं करते. वह अस्थमा से भी पीड़ित हैं.बता दें कि बिग बी अक्सर अपने ब्लॉग और ट्विटर के जरिये अपनी हेल्थ अपडेट फैंस के साथ शेयर करते रहते हैं. फिर शायद फैंस की दुआएं और उनका जुनून है कि वह आज इतनी बीमारियों का सामना करने के बाद भी एक्टिव हैं और दिन भर जमकर काम करते हैं.