इंदौर: आशियानों पर चले बुलडोजर

इंदौर। चार एसडीएम, चार सीएसपी, 500 से अधिक पुलिसकर्मी और 250 से अधिक निगमकर्मी की मौजूदगी में आज मच्छी बाजार में कार्रवाई शुरू हुई। कार्रवाई के पहले पूरे क्षेत्र की बिजली बंद की गई। वहीं सुबह कार्रवाई के संदेश के साथ लोगों ने अपने मकान तोडऩा शुरू कर दिए। वहीं दूसरी ओर अफसरों का दल मच्छी बाजार से कड़ावघाट और सिलावटपुरा तक निरीक्षण करता रहा।
सुबह जब एडीएम अजयदेव शर्मा, एसडीएम संदीप सोनी, सीएसपी धनंजय शाह, जयंत राठौर, वंदना चौहान जब कड़ावघाट की ओर जाने लगे तो नवापीठा क्षेत्र के लोगों ने उनको घेरा और कहा कि थोड़ी देर के लिए बिजली चालू करवा दें ताकि वे अपने मकान अपने हिसाब से तोड़ें। इसके अलावा हमारे घरों में सामान आदि पड़ा है इसलिए बिजली की जरूरत है। इस बात से अफसरों ने इनकार करते हुए कहा कि बिजली शुरू होने से करंट का भय बना रहता है इसलिए बिजली चालू नहीं कर सकते।

अभी केवल स्टे वाले मकान छोड़े
पिछले कई दिनों से मच्छी बाजार बाजार से सिलावटपुरा तक 264 से अधिक सड़क में बाधक मकान-दुकान हटाने की कार्रवाई रुक-रुक कर चल रही है। आज सुबह से ही निगम के 250 से अधिक कर्मचारी और रिमूवल अधिकारी महेंद्र सिंह चौहान मच्छी बाजार क्षेत्र में घूमकर जायजा ले रहे थे। कल दोपहर बाद कलाली और मांगीलाल उस्ताद व्यायाम शाला हटाने के बाद आज जिन मकानो ं पर कोर्ट का स्टे है उनको छोड़कर शेष तोडऩे का काम लगभग शुरू हो गया है।