MP:एक सेल्फी बन गयी जान की दुश्मन ,बिखर गया पूरा परिवार,मां की मौत ,बेटी लापता

मंदसौर. मंदसौर जिले में मंगलवार रात हुई भारी बारिश के बाद मंदसौर और मल्हारगढ़ तहसील के कई गांव डूब गए हैं।

भारी बारिश के चलते चार लोग बह गए हैं, जबकि जलमग्न हुए गांव में फंसे 35 सौ से ज्यादा लोगों को एनडीआरएफ की टीम ने निकालकर राहत कैंपों में पहुंचाया है। वहीं सेल्फी ले रही प्रो. की पत्नी और बच्ची पुलिया धंसने से पानी में बह गए। पत्नी का शव मिल गया है, जबकि बच्ची की तलाश जारी है। पशुपतिनाथ मंदिर में भी कमर तक पानी भर गया है।

एक दर्जन के करीब गांव जलमग्न हो गए और लोग पानी में डूबने लगे। तेज बारिश के बाद प्रशासन और एनडीआरएफ की टीम लोगों को राहत शिविर में पहुंचाने लगी। सुबह तक 35 सौ से ज्यादा लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया।

मिली जानकारी अनुसार तेज बारिश के बाद कर्मचारी कॉलोनी के समीप पुलिया उफान पर थी। उफनी पुलिया देखने प्रो. आरडी गुप्ता पत्नी पत्नी बिंदु के साथ सुबह गए थे। इसके बाद वे वापस घर आए तो बेटी आश्रुति ने भी उफनी पुलिया को देखने की जिद की। इसके बाद तीनों फिर से पुलिया पर पहुंचे और सेल्फी लेने लगे।

इसी दौरान पुलिस तेज आवाज करती हुई धंस गई और बेटी पानी में बहने लगी, इस पर बेटी को पकड़ने मां आगे बढ़ीं तो वे भी बहने लगीं। उन्हें पकड़ने प्राे. गुप्ता बढ़े, लेकिन उन्हें लोगों ने बचा लिया।लेकिन बेटी ओर पत्नी दोनों तेज बहाव में बह गईं। बचाव दल ने मेघदूत नगर के पास नाले से उनकी पत्नी को बाहर निकाला गया। हॉस्पिटल ले जाते वक्त उनकी मृत्यु हो गई। लेकिन बेटी का पता नहीं चल पाया। यह पुलिया गांधी नगर और शिक्षक कॉलोनी को जोड़ती है।