PM मोदी की राहुल गांधी को चुनौती- बिना पढ़े 15 मिनट बोल के दिखाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कर्नाटक दौरे पर कांंग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अतिउत्साह में राहुल गांधी मर्यादा तोड़ देते हैं, वह मेरे बारे में अनाप-शनाप बोलते हैं। उन्हें न देश का ज्ञान है और न ही वंदे मातरम की कोई जानकारी है।
पीएम ने कहा कि कांग्रेस के अध्यक्ष ‘नामदार’ हैं इसलिए वह ‘कामदारों’ के प्रयास को नहीं समझ सकते हैं। राहुल कभी भी अच्छे काम की तारीफ नहीं करते। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि राहुल गांधी बिना कागज देखे पढ़ भी नहीं सकते। क्या वह 15 मिनट भी बोल पाएंगे? राहुल जिस भाषा में बोलना चाहते हैं बोलें, राहुल चाहें तो अपनी मां की मातृभाषा में बात कर सकते हैं लेकिन कर्नाटक में आकर अपनी उपलब्धियों पर बोलें। आपको बता दें कि राहुल गांधी ने कहा था कि मुझे संसद में बोलने दें, मेरे सामने पीएम 5 मिनट भी नहीं बोल पाएंगे।

पीएम ने कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 2005 में कांग्रेस की सरकार में मनमोहन सिंह ने कहा था कि वह 2009 तक हर घर में बिजली पहुंचाएंगे लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। पीएम ने कहा कि हमने देखा है कि डॉक्टर मनमोहन सिंह से कांग्रेस कैसा व्यवहार करती थी। कांग्रेस ने हमेशा उनका अपमान किया।

उन्होंने कहा कि जो लोग हमें दिन-रात गाली दे रहे हैं वो बताएं कि आज भी 4 करोड़ घरों मेें बिजली क्यों नहीं पहुंची। हमने सौभाग्या योजना के तहत इन घरों में बिजली पहुंचाने का जिम्मा उठाया। 28 अप्रैल को देश के हर गांव में बिजली पहुंच गई, यह एक बड़ी उपलब्धि है।

पीएम ने कर्नाटक सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कर्नाटक में लोकायुक्त भी सुरक्षित नहीं है। यहां लॉ एण्ड ऑर्डर नहीं है। कांग्रेस की राजनीति विकास में रोड़ा डालती है, चामराजनगर रेलवे लाइन 5 साल तक अटकी रही। जहां भाई-भतीजावाद हो वहां विकास हो ही नहीं सकता, कांग्रेस के परिवारवाद ने लोकतंत्र को खराब कर दिया।

पीएम ने अपनी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि हमने फसल बीमा योजना की शुरुआत की है। हम 2022 तक किसानों की आय दोगुना करना चाहते हैं। किसानों को फसल की लागत का डेढ़ गुना मूल्य मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में बीजेपी की हवा नहीं बल्कि आंधी है। येदियुरप्पा कर्नाटक के लोगों की उम्मीद हैं और वह कर्नाटक के नए चीफ मिनिस्टर बनेंगे।