Review: ‘सोनू के टीटू की स्वीटी’

निर्माता निर्देशक लव रंजन ने प्यार का पंचनामा फिल्म जब बनाई तो एक अलग तरह की सनसनी देश में फैल गयी थी. लोग फिल्म की तारीफ के पुल बांधे जा रहे थे. उसके बाद लव ने आकाश वाणी फिल्म बनाई जिसे दर्शकों ने नकार दिया और फिर प्यार का पंचनामा 2 आई दर्शकों ने सराहा. अब कार्तिक आर्यन, नुशरत भरुचा और सनी सिंह के साथ लव ने यह नई फिल्म बनाई है. क्या फिर से बड़े-बड़े मोनोलॉग सुनने और देखने को मिलेंगे, क्या एक बार फिर से लड़के और लड़की के बीच होने वाले घमासान को देखने में मजा आएगा? इसी की कहानी है सोनू के टीटू की स्वीटी.

कहानी

फिल्म की कहानी दिल्ली के एक जॉइंट फैमिली से शुरू होती है जिसमें सोनू (कार्तिक आर्यन) और टीटू (सनी सिंह) बचपन से ही साथ में रहते हैं. सोनू अपने भाई टीटू का सबसे ज्यादा ख्याल रखता है और वो टीटू को हमेशा सही सलाह भी देता रहता है. एक दिन टीटू का उसकी गर्लफ्रेंड पीहू (इशिता राज शर्मा) से ब्रेकअप हो जाता है तो सोनू उसका साथ देता है. कुछ दिनों के बाद टीटू के घरवाले उसकी शादी के लिए लड़की देखने जाते हैं. उस लड़की का नाम स्वीटी (नुशरत भरुचा) होता है जो की टीटू को किसी भी कीमत में पाना चाहती है. स्वीटी की वजह से टीटू और सनी के बीच प्यार कम होने लगता है. इस स्थि‍ति से बचने के लिए सोनू कुछ तिकड़म भिड़ाता है और बहुत सारे ट्विस्ट टर्न्स आते हैं. अब सोनू और स्वीटी में से टीटू किसको सबसे ज्यादा प्यार करता है, इसका पता आपको फिल्म देखकर ही चलेगा.

क्यों देख सकते हैं फिल्म

लव रंजन की खासियत फिल्म की स्टोरी है जिससे आम इंसान कनेक्ट जरूर करता है. इस फिल्म के ट्रेलर में ही स्पष्ट कर दिया गया था कि लड़की और दोस्त में हमेशा लड़की ही जीतती है. इस कांसेप्ट पर पूरी फिल्म आधारित की गयी है.फिल्म में डायरेक्शन, सिनेमेटोग्राफी, लोकेशंस जबरदस्त हैं. फिल्म में संवाद कमाल के लिखे गए हैं और बिल्कुल पारिवारिक वातावरण में होने वाले वाद विवादों को फिल्म में दर्शाने की कोशिश की गयी है. कार्तिक आर्यन ने सोनू के किरदार में जबरदस्त एक्टिंग की है तो सनी सिंह ने टीटू का किरदार बढ़िया निभाया है और नुशरत भरुचा का किरदार काफी मुश्किल था लेकिन उन्होंने फ्री फ्लो एक्टिंग कमाल की की है.

कमजोर कड़ी

फिल्म की कमजोर कड़ी इसकी एडिटिंग और गाने हैं जो फिल्म की रफ़्तार को कमजोर बना देते हैं. वहीं फिल्म का क्लाइमेक्स और भी ज्यादा बेहतर किया जा सकता था. फिल्म को लगभग 15 मिनट और छोटा किया जाता तो और भी ज्यादा क्रिस्प होती.

बॉक्स ऑफिस

फिल्म का बजट लगभग 24 करोड़ बताया जा रहा है जिसमें प्रोडक्शन कॉस्ट 14 करोड़ और 10 करोड़ का प्रोमोशनल कॉस्ट है. फिल्म पहले से ही एमेज़ॉन प्राइम को डिजिटल राइट्स के तौर पर बेची जा चुकी है. देखना बेहद खास होगा की वीकेंड की कमाई कितनी होती है