Review: Sui Dhaaga(‘सुई धागा)

वरुण धवन और अनुष्का शर्मा की फिल्म ‘सुई धागा’ आज रिलीज हो गई है। इस फिल्म में आपको साधारण प्रेम कहानी देखने को मिलेगी। इस फिल्म में ममता और मौजी की कहानी है, जो धीरे-धीरे कामयाबी की ओर बढ़ती है। ममता-मौजी सुई धागे की तरह ही अपने रिश्ते को पक्के धागे के साथ मजबूती से बून रहे है। शरत कटारिया की इस फिल्म में सच में आपको ‘मेक इन इंडिया’ कैंपेन की झलक देखने को मिलेगी। यह फिल्म स्वरोजगार योजना को बढ़ावा देने के लिए सच में आपको प्रेरित कर सकती है। फिल्म को मध्य प्रदेश के चंदेरी में शूट किया गया है। फिल्म की कहानी भी बिल्कुल हटकर है।

इस फिल्म की कहाई का मेन बेस क्या है ये आप बखूबी जानते हैं। ये कहानी है ममता (अनुष्का शर्मा)  और उसके पति मौजी (वरुण धवन) की, जो आम इंसान है और डे जॉब करता है। मौजी एक साधारण परिवार से संबंध रखता है और साधारण नौकरी करता है. लेकिन अपने मालिक के बुरे बर्ताव के कारण वह अपनी नौकरी छोड़कर खुद का बिजनेस शुरु करने का फैसला करता है। इस काम में उसकी पत्नी ममता के सिवाय कोई भी शख्स साथ नहीं देता है। फिल्म में ममता -मौजी की जिन्दगी से जूड़ी हर परेशानी और उनका असली  स्ट्रगल यही से शुरु होता है।

मौजी अपना तो काम छोड़ तो देता है लेकिन उसे यह पता नहीं होता कि वह अपना और अपने परिवारवालों की देखभाल कैसे करेगा। यह बात मौजी को रात दिन सताती है। लेकिन ममता उसे सलाह देती है कि वह सिलाई में काफी परफेक्ट है तो उसे सिलाई का काम करना चाहिए। ममता को यह बात अच्छे से पता है कि मौजी सिलाई का काम अच्छे से जानता था क्योंकि बाप-दादा एक अच्छे करीगर होते हैं। वहीं ममता भी कढ़ाई में माहिर।  इसके बाद दोनों अपना खुद का काम शुरू करते हैं और अपने रास्ते आगे बढ़ते हैं। इस दौरान उनकी जिंदगी में कई उतार चढ़ाव आते हैं लेकिन निम्नमध्यवर्गीय परिवार के जोड़े अंत: अपनी मंजिल पाने में कामयाब हो जाता हैं।

अगर आप सुई धागा देखने की चाहत रखते हैं तो आपको इस फिल्म की सिंपल कहानी, वरुण और अनुष्का का लुक, म्यूजिक और डायरेक्टर शरत कटारिया की निम्नमध्यवर्गीय परिवार के संघर्ष और उसके सफल होने की कहानी आपको इंप्रेश करेगी।

संगीत और डायलॉग्स-  

फिल्म का गाना पहले से लोगों की जुबान पर चढ़ा हुआ है। फिल्म में निम्नमध्यवर्गीय परिवार के बीच रोज होने वाली झिझक और रोमांस आपको बीच बीच में हंसने के लिए विवश कर देंगे।  फिल्म का संगीत और गाने कहानी से जुड़ते दिखाई देते हैं। हालांकि फिल्म कभी-कभी इतनी सीरियस तो कभी काफी बोर कर सकती है।

ऐक्टिंग –

फिल्म में दोनों मेन पात्र अपने रोल को लेकर काफी वफादार दिखाई देंगे। अनुष्का-वरुण की बेहतरीन ऐक्टिंग आपका दिल जीत लेगी। फिल्म में वरुण अपने देसी अंदाज के किरदार में खुलकर सामने आए हैं। वहीं ममता यानि अनुष्का भी काफी दमदार लग रही हैं। फिल्म में अन्य पात्र जैसे रघुवीर यादव का भले ही छोटा है लेकिन मजेदार रोल है। सपॉर्टिंग किरदारों में रघुवीर यादव जो मौजी के पिता हैं वो इम्प्रेस करेंगे। मौजी की मां के रूप में आभा परमार को देखना भी सुखद है।

डायरेक्टरः शरत कटारिया

स्टारकास्ट: अनुष्का शर्मा,वरुण धवन,रधुवीर यादव

मूवी टाइप- कॉमेडी ड्रामा

रेटिंग: 3 स्टार ***