Twitter से पार्टी का नाम और पद हटाने पर सिंधिया ने कही ये बात

नई दिल्लीः ट्विटर अकाउंट पर पार्टी का नाम हटाने और स्टेटस बदलने पर कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) का कहना है कि उन्होंने लोगों के कहने पर अपने ट्विटर अकाउंट से पार्टी का नाम और पद हटाया है .

उन्होंने कहा कि जनता की मांग पर उन्होंने ट्विटर अकाउंट पर अपना बायो छोटा किया है. किसी अन्य पार्टी में जाने को लेकर अफवाहों पर सफाई देते हुए उन्होंने कहा कि सभी अफवाहें निराधार हैं. उन्होंने सिर्फ जनता की मांग पर अपना बायो छोटा किया है.

दरअसल, हाल ही में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने अपने ट्विटर अकाउंट से पार्टी का नाम और पद हटा दिया है, जिससे सियासी गलियारों में उनके अन्य पार्टी ज्वॉइन करने की अटकलों ने जोर पकड़ लिया है. वहीं इन दिनों जनता की आवाज बने सिंधिया लगातार मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार के प्रति नाराजगी जाहिर कर रहे हैं, जिससे यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि सिंधिया जल्द ही अन्य पार्टी के साथ नजर आ सकते हैं.

आपको बता दें कि सिंधिया ने अपने ट्विटर अकाउंट से पार्टी का नाम हटाते हुए खुद को समाजसेवक और क्रिकेटप्रेमी बताया है. वहीं सिंधिया के ट्विटर अकाउंट से पार्टी का नाम हटाते ही मध्य प्रदेश की राजनीतिक गलियारों में अब सुगबुगाहट शुरू हो गई है और उनके जल्द ही भाजपा ज्वॉइन करने की अटकलें भी तेज हो गई हैं.