इंदौर:पुलिस ने बंद करवाईं दुकानें, निगम ने दवा का छिड़काव किया

इंदौर. कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सोमवार को लॉकडाउन के आदेश के बाद मंगलवार सुबह से ही पुलिस ने मैदान संभाल लिया है। डीआईजी सहित पूरा पुलिस अमला मैदान में उतरकर लोगों को घरों में रहने की समझाइश दे रहा है।

इस दौरान वाहन चालकों को रोककर घर से निकलने का कारण पूछा जा रहा है, जवाब संतुष्ट नहीं होने पर वाहन भी जब्त किए जा रहे हैं। इस दौरान पुलिस की एक मानवीय पहल भी देखने को मिली। लॉकडाउन के बीच पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद होने से विजय नगर चौराहे पर एक बीमार महिला की मदद करते हुए थाना प्रभारी एंबलुेंस 108 की मदद से उसे गीता भवन अस्पताल पहुंचाया गया। वहीं, नंदलालपुरा क्षेत्र में सख्ती दिखाते हुए दुकानें बंद करवाई गईं।

मंगलवार सुबह लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवाने के लिए डीआईजी रुचि वर्धन मिश्र खुद मैदान में उतरीं। वे टीम के साथ राजबाड़ा सहित शहर के अन्य स्थानों पर जायजा लेने पहुंचीं। इस दौरान उन्हांेने शहरवासियों से अपील की कि प्रशासन के लॉक डाउन में सहयोग करें, अपने और परिवार की सुरक्षा के लिए 31 तक घर पर ही रहें।

वहीं, कुछ पेट्रोल पंप पर लाॅकडाउन के दौरान कर्मचारी पंप के बजाय नाम से पेट्रोल देते नजर आए। पुलिस के रोकने पर कुछ लोग झूठ भी बोल रहे हैं कि वे अस्पताल जा रहे हैं या दूध, सब्जी लेने घर से निकले हैं। हालांकि पुलिस उन्हें समझाकर घर भेज रही है। इसके अलावा निगम की टीम ने सफाई का मोर्चा संभाल रखा है। टीम सुबह से ही कचरा उठा रही है। वहीं, जवाहर मार्ग सहित अन्य स्थानों पर दवा का भी छिड़काव किया गया।