Friday, May 27, 2022
Homeइंदौरइंदौर: दानपेटी से निकली आस्था की अर्जियां

इंदौर: दानपेटी से निकली आस्था की अर्जियां

आस्था के आगे सबकुछ छोटा है। कभी यह निष्काम रूप में होती है तो कभी सकाम रूप में। कभी हाथ जोड़कर बिना कुछ कहे भगवान से मांगा जाता है तो कभी चिट्ठी लिखकर गुहार लगाई जाती है।

आस्था का यह रूप अक्सर सामने आता रहता है। इस बार इंदौर के खजराना गणेश मंदिर से निकली चिट्ठियों में फिर यह रूप दिखा है, जिसमें भक्तों ने भगवान में अलग-अलग कामना की है।

दरअसल प्रसिद्ध खजराना गणेश मंदिर की दानपेटियों को बुधवार को खोला गया। इन दानपेटियों से सोने-चांदी के आभूषण और नकदी तो मिले ही मगर कुछ चिट्ठियां निकलीं हैं जिनमें भक्तों ने अलग-अलग मनोकामनाएं लिखी हैं। जानकारी के मुताबिक बुधवार को मंदिर की करीब 17 से ज्यादा दानपेटियां खोली गईं।

इनमें निकले हजारों सिक्कों और नोटों को जमाने का काम मंदिर प्रबंधन समिति, जिला कोषालय, नगर निगम सहित अन्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी कर रहे है।

बैंक अधिकारियों-कर्मचारियों के आने के बाद उनकी गणना की जाएगी। प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक जो दानपेटियां खुली हैं उनमें करीब 35 लाख से अधिक की दानराशि निकली है।

इसके अलावा करीब दो दर्जन से ज्यादा चिट्ठियां, सोने-चांदी के आभूषण, लोहे का एक गुल्लक, विदेशी मुद्रा, बंद हो चुके 1 हजार और 500 रुपये के नोट भी निकले हैं।

दानपेटी में एक बच्चे द्वारा चढ़ाया गया लोहे का गुल्लक मिला है। इसमें सिर्फ सिक्के ही निकले है। गुल्लक पर लिखा था कि माता-पिता के स्वास्थ्य के लिए गुल्लक दान की है। एक व्यक्ति ने चिट्ठी में बीमारी ठीक करने की बात लिखी है तो एक भक्त ने लिखा कि मेरी चुनाव से ड्यूटी निरस्त करवा दीजिए।

मंदिर प्रबंधन समिति के प्रकाश दुबे ने बताया कि दानपेटियों में सोने-चांदी के जेवरात भी निकले है। इसमें सोने के सिक्के, सोने की दुर्वा, चांदी की गाय, चांदी के नाग, पायजेब, हाथ घड़ी सहित अन्य जेवरात निकले हैं। बंद हो चुके है एक हजार के तीन नोट और 500 के दो नोट सहित विदेश मुद्राएं भी मिली हैं।

पुजारी पंडित अशोक भट्ट ने बताया कि मंदिर में जो भक्त आते हैं वे अपनी श्रद्धानुसार दान करते हैं। कुछ लोग मनोकामनो लिखकर जाते हैं। बताया गया कि करीब चार माह पहले दानपेटियां खोली गई थी। उस समय लगभग एक करोड़ से ज्यादा की राशि दानपेटियों से निकली थी। अगले तीन दिनों तक गणना चलेगी, इसके बाद पूरी राशि की गणना हो सकेगी।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर