Monday, May 16, 2022
Homeइंदौरइंदौर में लोकायुक्त की कार्रवाई : सहकारी उपभोक्ता भंडार की दुकान नियमित...

इंदौर में लोकायुक्त की कार्रवाई : सहकारी उपभोक्ता भंडार की दुकान नियमित चलाने मांग रहा था रिश्वत

खाद विभाग के कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी को रिश्वत लेते हुए लोकायुक्त पुलिस ने पकड़ा है। सोमवार सुबह अधिकारी ने रिश्वत लेने लिए घर के पास ही एक बगीचे में बुलाया था। वो यहां 15 हजार की रिश्वत ले रहा था, जिसे लोकायुक्त ने रंगे हाथों पकड़ लिया।

बताया जाता है कि कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी एक सहकारी उपभोक्ता भंडार से हर माह 15 हजार रुपए रिश्वत दिए जाने की मांग कर रहा था। साथ ही धमकी दे रहा था कि अगर उसे हर माह 15 हजार रुपए नहीं दिए गए तो अनियमितता बताकर उपभोक्ता भंडार का लायसेंस निरस्त कर देगा। जैसे ही लोकायुक्त पुलिस ने अफसर को पकड़ा तो वह गिड़गिड़ाने हुए माफी मांगने लगा।

लोकायुक्त पुलिस के मुताबिक अमित पुत्र स्व. राजकुमार जी कलसी निवासी आनंद नगर एबी रोड राजेंद्र नगर की शिकायत पर धर्मेंद्र शर्मा, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी खाद्य विभाग कार्यालय कलेक्ट्रेट को उनके निवास आवासा लग्जरी रेसीडेंसी के बाहर बगीचे में 15 हजार की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया है। अधिकारियों के मुताबिक अमित अहीरखेड़ी महिला सहकारी उपभोक्ता भंडार ग्राम बांक चंदननगर इंदौर में शासकीय राशन दुकान में सेल्समैन है। यहां राशन दुकान चलाने में किसी तरह की वैधानिक कार्रवाई न करने के करने के लिए कनिष्ठ अधिकारी धर्मेंद्र शर्मा द्वारा हर माह 15 हजार रुपए मांगे जा रहे थे। नहीं देने पर दुकान को बंद कराने की धमकी भी दी जा रही थी। इस मामले में अमित ने 2 नवंबर को लोकायुक्त ऑफिस में शिकायत की थी। जिसके बाद लगातार रिकॉर्डिंग कराई गई। सोमवार को अमित को धर्मेंद्र शर्मा ने अपने घर आवासा लग्जरी रेसीडेंसी के बाहर निर्माणाधीन बगीचे में बुलाया था। यहां पहले से खड़ी लोकायुक्त की टीम ने कारवाई कर धर्मेंद्र को पकड़ लिया। वह अधिकारियों से माफी मांगने लगा। इस दौरान लोकायुक्त पुलिस ने उसका मोबाइल भी जब्त कर लिया।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर