Monday, May 16, 2022
Homeब्यूटी एंड फैशनइन कारणों से होते हैं आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स, ना करें...

इन कारणों से होते हैं आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स, ना करें ये गलतियां

आंखों के नीचे डार्क सर्कल (Dark Circles) होना आमतौर पर थकान और नींद की कमी की वजह से माना जाता है. डार्क सर्कल किसी भी उम्र में और कई कारणों (Reason) से हो सकता है. कई लोगों को हेल्‍थ कंडिशन या न्‍यूट्रिशन की कमी की वजह से भी चेहरे पर डार्क सर्कल की समस्‍या दिखती है. ऐसे में अगर आप बेहतर लाइफ स्‍टाइल, बेहतर डाइट (Diet) और बेहतर नींद लें तो डार्क सर्कल की समस्‍या से छुटकारा पाया जा सकता है.

कई बार अंडर आई डार्क सर्कल की समस्‍या जेनेटिक या एजिंग की वजह से भी होती है. ऐसे में आपको डॉक्‍टर की सलाह लेने से कुछ फायदा मिल सकता है. इसके अलावा सूरज की किरणों से निकलने वाली यूवी किरणें भी स्किन के नीचे की कोमल स्किन को डैमेज करने का कारण होती हैं. आंखों के नीचे अगर काले घेरे या सूजन की वजह से चेहरा उम्र से 5 साल अधिक बड़ा दिखता है. तो आइए जानते हैं कि किन कारणों से आंखों के नीचे डार्क सर्कल आते हैं.

डार्क सर्कल्‍स की वजह

थकान और नींद की कमी

अगर रात में पर्याप्त नींद नहीं ली गई या बहुत दिनों से कुछ ज्‍यादा ही काम कर रहे हैं तो इसकी थकान की वजह से चेहरे की छोटी-छोटी नसें डार्क होने लगती हैं और आंखों के नीचें पर्पल ब्‍लू सर्कल नजर आने लगता है.

एनीमिया

शरीर में आयरन की कमी से भी डार्क सर्कल्स होते हैं और एनीमिया का ये पहला लक्षण माना जाता है. आयरन की कमी से शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो सकती है और जिससे डार्क सर्कल्स और झुर्रियां बढ़ती हैं. इसे दूर करने के लिए बैलेंस डाइट लेना बहुत जरूरी होता है.

एलर्जी

कई बार आंखों में धूल जाने या किसी तरह की एलर्जी से डार्क सर्कल्स हो सकता है. दरअसल आंखों में बार-बार खुजली होने से हम आंखों के नीचे की स्किन को भी नुकसान पहुंचाते हैं. बच्चों में डार्क सर्कल्स की ये सबसे बड़ी वजह होती है.

न्यूट्रिशन में कमी

जब शरीर में न्यूट्रिशन की कमी मसलन आयरन, विटामिन A,C, K, और E आदि की कमी से भी डार्क सर्कल्स हो सकता है. ऐसे में आप डॉक्‍टर की सलाह पर सेप्‍लीमेंट भी ले सकते हैं.

स्मोकिंग और ड्रिंकिंग

स्मोकिंग और ड्रिंकिंग की आदत की वजह से शरीर में पानी की कमी होती है और डिहाइड्रेशन के कारण डार्क सर्कल्स बनने लगते हैं. ऐसे में ज्यादा स्मोकिंग और ड्रिंक से बचना चाहिए.

यूवी किरणें

अगर आप ज्यादा धूप में रहते हैं तो स्किन पर पिगमेंटेशन बनता है और आंखों के आस-पास काले घेरे बन जाते हैं. आंखों के इर्द-गिर्द मेलानिन काफी ज्यादा होता है और ये टैनिंग करता है.

हार्मोन्स में बदलाव

हार्मोनल बदलाव की वजह से स्किन और शरीर के कई बदलाव आते हैं जिसमें से एक है डार्क सर्कल्स की समस्या. प्रेग्नेंसी टेस्ट से लेकर हार्मोन्स के टेस्ट तक काफी कुछ कर सकते हैं. अक्सर नीले और डार्क ब्राउन रंग के डार्क सर्कल्स इस तरह की समस्या को दिखाते हैं.

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर