Wednesday, May 18, 2022
Homeउज्जैनउज्जैन:डर-भय नहीं, सतर्कता-सजगता जरूरी, नए सभी पॉजिटिव वैक्सीनेटेड फिर भी चपेट में

उज्जैन:डर-भय नहीं, सतर्कता-सजगता जरूरी, नए सभी पॉजिटिव वैक्सीनेटेड फिर भी चपेट में

कोरोना की तीसरी लहर बरपाने लगी कहर, जिले में लगातार बढ़ रही है मरीजों की संख्या

उज्जैन। यह डर,चिंता की बात भले न मानी जाए,लेकिन सतर्कता-सजगता जरूर हैं। कोरोना की तीसरी लहर कहर बरपाने लगी है। प्रदेश में डेल्टा के साथ ओमिक्रॉन के मरीज मिले हैं। इन सभी स्थिति के बीच यह समझना आवश्यक हैं कि 8 दिसंबर के बाद से अभी तक जितने भी कोरोना पॉजिटिव सामने आए,वे वैक्सीनेटेड हैं यानि वैक्सीन के दोनों डोज लगवा चुक है फिर भी कोरोना की चपेट में आ गए।

तीसरी लहर का ट्रेंड को पता करने के लिए स्वास्थ्य अमले की संक्रमितों की सतही स्टडी में यह तथ्य सामने आया कि गुरुवार शाम तक सैंपलिंग के बाद सामने आए करीब 200 पॉजिटिव मरीजों में से 8 बच्चों (18 साल से कम) को छोडकर शेष मरीजों को वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके हैं।

Screenshot 20220105 164637

इससे साफ है कि संक्रमण से वैक्सीनेटेड लोग भी नहीं बच पा रहे हैं। इस मामले में आरआर टीम के नोडल अधिकारी डॉ. रौनक एलची का कहना है कि वर्तमान में मरीजों की हालत तो स्टेबल है। जल्दी ठीक भी हो रहे हैं। चूंकि अधिकांश लोग वैक्सीनेटेड हैं, उनमें हर्ड इम्युनिटी भी डेवलप हो चुकी है। संक्रमित होने के बाद लोग जल्दी ठीक भी हो रहे हैं। इसके बावजूद लापरवाही नहीं बरतनी है। अलर्ट रहने की जरूरत है। कोई भी परेशानी होने पर तुरंत अस्पताल पहुंचें।

68 मरीज नए पॉजिटिव: 58 शहर, 10 महिदपुर के

उज्जैन जिले में संक्रमण का खतरा तेजी से बढ़ता जा रहा है और हर दिन मरीजों का नया रिकॉर्ड बनता जा रहा है। ऐसे ही हाल रहे तो 26 जनवरी तक कोरोना पीक पर आ जाएगा। हेल्थ बुलेटिन के अनुसार शुक्रवार को लैब से 2058 लोगों की रिपोर्ट आई है। जिनमें 68 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं। जो कि एक दिन में पाए गए मरीजों की सबसे ज्यादा संख्या है। शहरी क्षेत्र के 58 मरीजों में संक्रमण पाया गया है और 10 मरीज महिदपुर के है।

कोरोना को लेकर एक चिंता यह भी
कोरोना के लेकर एक चिंता की वजह केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार,कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी साप्ताहिक रिपोर्ट भी है। मंत्रालय द्वारा प्रति सप्ताह देश भर के तमाम जिलों से सैंपलिंग,टेस्टिंग रेट के साथ कोरोना पॉजिटिव की दर को लेकर भी रिपोर्ट जारी करती है। बीते सप्ताह जारी रिपोर्ट में मध्यप्रदेश में केवल उज्जैन शहर का नाम है। कोरोना की पॉजिटिव दर साफ तौर पर 11 प्रतिशत बताई गई है। इस रिपोर्ट में मध्य प्रदेश के 52 जिलों में से सिर्फ उज्जैन ही शामिल है। उज्जैन में आरएटी टेस्टिंग 17 प्रतिशत और आरटीपीसीआर टेस्टिंग रेट 86 प्रतिशत है।

जरूर पढ़ें

मोस्ट पॉपुलर